सिधे सामग्रीमे जाउ

सिधे दोसर तहके मेनुमे जाउ

यहोवाक साक्षीसभ

मैथिली

परिवारक सुखी बनबइल कि चाहिं?

परिवारक सुखी बनबइल कि चाहिं?

आहाँ कि कहबै?

  • प्यार।

  • पैसा।

  • कि आरो कुछ।

 पवित्र शास्त्र कि कहैछैय?

‘सुखी छथि ओ सभ जे भगवानक वचन सुनैत छथि और तकर पालन करैत छथि!’—लुका ११:२८, जीवन-सन्देश।

अकर बारेमे जान्नेस आहाँक लेल कि फाइदा होयत?

परिवारमे सच्चा प्यार।—इफिसी ५:२८, २९.

एक दोसरमे गहरा आदर भाव बढतै।—इफिसी ५:३३.

एकता आरो मजबुत बंधन।—मरकुस १०:६-९.

 आहाँ हम पबित्र शास्त्रक बात पतियाब सकैछियै?

हँ त, ओकरलेल दुईगो बातमे ध्यान दियौ:

  • भगवान परिवारक सुरु करैवाला छथिन। यहोवा भगवान सभ परिवारक नाम राखलकैन। ई बात पबित्र शास्त्रमे कहैछै। (इफिसी ३:१४, १५) दोसर शब्दमे कहल जाईत परिवारक बन्दोबस्त करेवाला छथिन। किएकि अखैन हम आहाँ मौजुद छियै। कथिला ई बात बुझनाइ जरुरी छैय?

    मानलियौ, आहाँ खाना ख्यारहल छियै अहाँके बहुते निक लागल अर आहाँ जानेला चाहैछियै कि ऊ खानामे कि-कि मिलैने छेलै, आहाँ ककरा पुछबै? जरुर छैय कि जे बनालकै ओकरे पुछब। ओहिना परिवारक सुखी बनाबेक लेल कथी-कथि करे परतै ओकर खातिर यहोवा भगवानके पुछेला चाहिं।—उत्पत्ति २:१८-२४.

  • भगवान आहाँक परवाह करै छथिन। भगवान पवित्र शास्त्रस परिवारक लेल बहुतै निक बात कहै छथिन। जे परिवार ओकर बात मानतै ओ जरुर बुद्धिमानी बात छियै ‘किएकि भगवान आहाँक परवाह करै छथिऩ।’ (१ पत्रुस ५:६, ७) यहोवा भगवान आहाँक भला चाहैछैय। तैई खातिर ओकर बात सब़दिन मानलासे फाईदा होइछैय।—नीति-वचन ३:५, ६; यशायाह ४८:१७, १८.

 आहाँ ई बिषयमे सोचु त

आहाँ केना एगो बढिंया पति, पत्नी या माइ-बाप बैन सकैछियै?

इफिसी ५:१, २ अर कुलुस्सी ३:१८-२१ मे पवित्र शास्त्र मे ई प्रश्नक जवाब देने छैय।