इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

परमेश्वर के कितने नाम हैं?

परमेश्वर के कितने नाम हैं?

शास्त्र से जवाब

परमेश्वर का सिर्फ एक ही नाम है। यह नाम इब्रानी भाषा में इस तरह लिखा जाता है: יהוה आम तौर पर हिंदी में इसका अनुवाद “यहोवा” किया जाता है। * परमेश्वर ने अपने भविष्यवक्ता यशायाह के ज़रिए कहा, “मैं यहोवा हूँ, यही मेरा नाम है।” (यशायाह 42:8) बाइबल की प्राचीन हस्तलिपियों में यह नाम करीब 7,000 बार आया है, यानी परमेश्वर के लिए जितनी उपाधियाँ इस्तेमाल की गयी हैं उनसे कहीं ज़्यादा बार परमेश्वर का नाम इस्तेमाल हुआ है। यही नहीं, बाइबल में जितने भी लोगों के नाम दिए हैं उनमें सबसे ज़्यादा बार “यहोवा” का नाम आया है। *

क्या यहोवा के और भी दूसरे नाम हैं?

हालाँकि बाइबल बताती है कि परमेश्वर का सिर्फ एक ही नाम है, फिर भी इसमें परमेश्वर के लिए कई उपाधियाँ और वर्णन भी इस्तेमाल किया गया है। इनके कुछ उदाहरण आगे दिए गए हैं। साथ ही यह भी बताया गया है कि हर उपाधि या वर्णन से कैसे यहोवा की शख्सियत का एक पहलू पता चलता है।

उपाधि

आयतें

मतलब

अति प्राचीन

दानियेल 7:9, 13, 22

यहोवा की कोई शुरूआत नहीं है, वह हमेशा से परमेश्वर रहा है। किसी भी प्राणी या चीज़ के बनाए जाने से बहुत पहले वह अस्तित्व में है।—भजन 90:2.

अल्फा और ओमेगा

प्रकाशितवाक्य 21:6; 22:13

इन शब्दों का मतलब है, “पहला और आखिरी” या “शुरूआत और अंत।” यह दिखाता है कि यहोवा से पहले न कोई सर्वशक्‍तिमान परमेश्वर हुआ था और न उसके बाद कोई होगा। (यशायाह 43:10) अल्फा और ओमेगा, यूनानी वर्णमाला के पहले और आखिरी अक्षर हैं।

अल्लाह

(नहीं है)

“अल्लाह” अरबी भाषा का शब्द है, मगर यह एक नाम नहीं बल्कि उपाधि है जिसका मतलब है, “परमेश्वर।” बाइबल के अरबी और दूसरी भाषाओं के अनुवादों में “परमेश्वर” का अनुवाद “अल्लाह” किया गया है।

आनंदित परमेश्वर

1 तीमुथियुस 1:11

वह खुश रहनेवाला परमेश्वर है।—भजन 104:31.

ईश्वरों का परमेश्वर

व्यवस्थाविवरण 10:17, हिंदी—ओ.वी.

जिन “निकम्मी मूरतों” को पूजा जाता है उन सबकी तुलना में यहोवा सबसे महान परमेश्वर है। (यशायाह 2:8) इसलिए इन शब्दों का अनुवाद इस तरह भी किया गया है: “सब ईश्वरों में महान ईश्वर।”—नयी दुनिया अनुवाद।

उद्धारकर्ता

यशायाह 45:21

वह खतरे या नाश से बचाता है।

कुम्हार

यशायाह 64:8

उसे हर इंसान और राष्ट्र पर अधिकार है, ठीक जैस कुम्हार को मिट्टी पर अधिकार है।—रोमियों 9:20, 21.

चट्टान

भजन 18:2, 46

उसमें पनाह लेने से सुरक्षा मिलती है और वही इंसानों को बचा सकता है।

चरवाहा

भजन 23:1

अपने उपासकों की देखभाल करता है।

छुड़ानेवाला

यशायाह 41:14

वह यीशु मसीह के फिरौती बलिदान की कीमत देकर इंसानों को वापस खरीदता है या पाप और मौत की गिरफ्त से आज़ाद करता है।—यूहन्ना 3:16.

जलनशील, ईर्ष्यालु

निर्गमन 34:14, हिंदी—ओ.वी.; हिंदी—कॉमन लैंग्वेज

उसे यह हरगिज़ बरदाश्त नहीं कि लोग उसके सिवा किसी और की उपासना करें। इन शब्दों का अनुवाद इस तरह भी किया गया है: “यह माँग करने के लिए जाना जाता है कि सिर्फ उसी की भक्‍ति की जाए” और “वह उसका मुकाबला करनेवालों को बरदाश्त नहीं करता।”—नयी दुनिया अनुवाद; फुटनोट।

परम-पवित्र परमेश्वर

नीतिवचन 9:10

वह पवित्रता (या नैतिक शुद्धता) में सबसे बढ़कर है।

परम-प्रधान

भजन 47:2

उसका पद सबसे ऊँचा है।

परमेश्वर

उत्पत्ति 1:1

जिसकी उपासना की जानी चाहिए और ताकतवर परमेश्वर। “परमेश्वर” का इब्रानी शब्द एलोहीम एक बहुवचन शब्द है। यह शब्द यहोवा का वैभव या उसकी गरिमा या श्रेष्ठता दिखाता है।

पिता

मत्ती 6:9

जीवन देनेवाला।

प्रभु

भजन 135:5

मालिक या स्वामी। इसका इब्रानी शब्द है, अधोन और अधोनिम।

प्रार्थना का सुननेवाला

भजन 65:2

वह खुद हरेक इंसान की बिनती सुनता है, जो विश्वास से उससे प्रार्थना करता है।

महान उपदेशक

यशायाह 30:20, 21

वह हमारे भले के लिए हमें सिखाता और राह दिखाता है।—यशायाह 48:17, 18.

महान रचनाकार

भजन 149:2

उसी ने सबकुछ बनाया और वजूद में लाया है।—प्रकाशितवाक्य 4:11.

मैं जो हूं सो हूं

निर्गमन 3:14, हिंदी—ओ.वी.

अपना मकसद पूरा करने के लिए उसे जो बनना ज़रूरी है वह बन जाता है। इन शब्दों का अनुवाद इस तरह भी किया गया है: “मैं जो होऊंगा सो हूंगा” या “मैं वह बन जाऊँगा जो मैं बनना चाहता हूँ।” (हिंदी—कॉमन लैंग्वेज, फुटनोट; नयी दुनिया अनुवाद) इस वर्णन से यहोवा नाम का मतलब समझ आता है जो अगली आयत में दिया गया है।—निर्गमन 3:15.

युग-युग का राजा

प्रकाशितवाक्य 15:3

उसकी हुकूमत की न तो कोई शुरूआत है और न अंत।

सबसे महान परमेश्वर

दानियेल 7:18, 27

सबसे बड़ा राजा।

सर्वशक्तिमान

उत्पत्ति 17:1

उसके पास असीम शक्‍ति है। बाइबल में इब्रानी शब्द एल-शद्दाय, जिसका अनुवाद “सर्वशक्‍तिमान परमेश्वर” किया गया है, सात बार आता है।

सारे जहान का मालिक

उत्पत्ति 15:2

उसी के पास सबसे ज़्यादा अधिकार है। इसका इब्रानी शब्द है, अधोनाइ।

सृष्टिकर्ता

सभोपदेशक 12:1

उसी ने सबकुछ बनाया और वजूद में लाया है।

सेनाओं का प्रभु

रोमियों 9:29

उसकी कमान के नीचे स्वर्गदूतों की एक विशाल सेना है। इस उपाधि का अनुवाद इस तरह भी किया जा सकता है: ‘सेनाओं का परमेश्वर यहोवा’ और ‘स्वर्गिक सेनाओं का प्रभु।’—यशायाह 1:9, नयी दुनिया अनुवाद; रोमियों 9:29, हिंदी—कॉमन लैंग्वेज।

इब्रानी शास्त्र में जगहों के नाम

बाइबल में दी गयी कुछ जगहों के नामों में परमेश्वर का नाम शामिल है, मगर ये नाम परमेश्वर के दूसरे नाम नहीं हैं।

जगह का नाम

आयतें

मतलब

यहोवा-यिरे

उत्पत्ति 22:13, 14

“यहोवा इंतज़ाम करेगा।”

यहोवा-निस्सी

निर्गमन 17:15

“यहोवा मेरी निशानी का खंभा है” या “प्रभु मेरी ध्वजा है।” (हिंदी—कॉमन लैंग्वेज) यहोवा ऐसा परमेश्वर है कि उसके लोग हिफाज़त और मदद पाने के लिए उसके पास भागकर जा सकते हैं।—निर्गमन 17:13-16.

यहोवा-शालोम

न्यायियों 6:23, 24

“यहोवा शांति है।”

यहोवा-शाम्मा

यहेजकेल 48:35, हिंदी—ओ.वी.

“यहोवा वहाँ है।”

परमेश्वर का नाम जानने और इस्तेमाल करने की वजह

  • परमेश्वर के लिए अपना नाम यहोवा इतनी अहमियत रखता है कि उसने बाइबल में यह नाम हज़ारों बार दर्ज़ कराया है।—मलाकी 1:11.

  • परमेश्वर के बेटे यीशु ने बार-बार परमेश्वर के नाम की अहमियत पर ज़ोर दिया था। उदाहरण के लिए, उसने यहोवा से प्रार्थना में कहा था, “तेरा नाम पवित्र किया जाए।”—मत्ती 6:9; यूहन्ना 17:6.

  • परमेश्वर का नाम यहोवा जानना और उसका इस्तेमाल करना, उससे दोस्ती करने का पहला कदम है। (भजन 9:10; मलाकी 3:16) जब लोगों की यहोवा से दोस्ती हो जाती है तो वे उसका यह वादा पूरा होते देख सकते हैं: “वह मुझसे गहरा लगाव रखता है, इसलिए मैं उसे बचाऊँगा। मैं उसकी रक्षा करूँगा क्योंकि वह मेरा नाम जानता है।”भजन 91:14.

  • बाइबल यह बात मानती है कि “स्वर्ग में और धरती पर ईश्वर कहलानेवाले बहुत हैं, ठीक जैसे बहुत-से ईश्वर और प्रभु हैं।” (1 कुरिंथियों 8:5, 6) मगर बाइबल साफ-साफ यह भी बताती है कि सिर्फ एक सच्चा परमेश्वर है जिसका नाम यहोवा है।—भजन 83:18.

^ पैरा. 3 कुछ इब्रानी विद्वान परमेश्वर के नाम के लिए “याहवे” इस्तेमाल करना पसंद करते हैं।

^ पैरा. 3 परमेश्वर के नाम का छोटा रूप “याह” बाइबल में करीब 50 बार आता है। यह रूप “हल्लिलूयाह” शब्द में भी इस्तेमाल होता है जिसका मतलब है, “याह की तारीफ करो।”—प्रकाशितवाक्य 19:1; हिंदी—ओ.वी.।