बाइबल का जवाब

जूआ खेलना सही है नहीं, इस बारे में बाइबल में ज़्यादा जानकारी नहीं दी गयी है। मगर बाइबल में दिए सिद्धांतों से पता चलता है कि जूआ खेलना परमेश्‍वर की नज़र में पाप है।—इफिसियों 5:17. *

  • जूआ लालच की वजह से खेला जाता है और परमेश्‍वर लालच से नफरत करता है। (1 कुरिंथियों 6:9, 10; इफिसियों 5:3, 5) जूआ खेलनेवाले दूसरों का नुकसान करके पैसा कमाते हैं लेकिन बाइबल कहती है कि दूसरों की चीज़ों का लालच करना बिलकुल गलत है।—निर्गमन 20:17; रोमियों 7:7; 13:9, 10.

  • थोड़े-से पैसे के लिए जूआ खेलना भी दिल में लालच बढ़ा सकता है और यह बाद में खतरनाक साबित होता है।—1 तीमुथियुस 6:9, 10.

  • जूआ खेलनेवाले ज़्यादातर अंधविश्‍वास या किस्मत पर बहुत भरोसा करते हैं। लेकिन परमेश्‍वर के मुताबिक ऐसी धारणाएँ रखना एक तरह की मूर्तिपूजा है जो कि परमेश्‍वर की उपासना के स्तरों के खिलाफ है।—यशायाह 65:11.

  • बाइबल हमें यह बढ़ावा नहीं देती कि हम बिना कोई काम किए कुछ हासिल करने की कोशिश करें, बल्कि यह हमें कड़ी मेहनत करने की सलाह देती है। (सभोपदेशक 2:24; इफिसियों 4:28) जो बाइबल की यह सलाह मानते हैं वे “अपनी कमाई की रोटी” खा पाते हैं।—2 थिस्सलुनीकियों 3:10, 12.

  • जूआ खेलने से होड़ लगाने की भावना पैदा हो सकती है जिसे बाइबल में गलत बताया गया है।—गलातियों 5:26.

^ पैरा. 3 बाइबल में जूआ खेलने का सीधा-सीधा ज़िक्र सिर्फ एक वाकए में आता है। उस वाकए में बताया गया है कि रोमी सैनिकों ने यीशु का कपड़ा आपस में बाँटने के लिए ‘पासा फेंका’ था।—मत्ती 27:35, ईज़ी-टू-रीड वर्शन; यूहन्‍ना 19:23, 24.