इस जानकारी को छोड़ दें

वीडियो से सीखिए

बाइबल की हर किताब का परिचय

इन छोटे-छोटे वीडियो में बताया गया है कि बाइबल की हर किताब कब और कहाँ लिखी गयी थी और उसमें क्या जानकारी दी गयी है। इन वीडियो की मदद से आपको बाइबल पढ़ते वक्‍त और मज़ा आएगा।

उत्पत्ति की किताब पर एक नज़र

उत्पत्ति की किताब में बताया गया है कि इंसानों की शुरूआत कैसे हुई और क्यों आज हम दुख-तकलीफों और मौत का सामना करते हैं।

एज्रा की किताब पर एक नज़र

यहोवा अपने लोगों को बैबिलोन से रिहा कराने का और यरूशलेम में सच्ची उपासना दोबारा शुरू कराने का वादा पूरा करता है।

नहेमायाह की किताब पर एक नज़र

बाइबल की नहेमायाह की किताब आज सभी सच्चे उपासकों को बढ़िया सबक देती है।

एस्तेर की किताब पर एक नज़र

एस्तेर के दिनों में हुई घटनाएँ आपके विश्‍वास को मज़बूत करेंगी कि आज भी यहोवा परमेश्‍वर अपने लोगों को परीक्षाओं में से निकाल सकता है।

अय्यूब की किताब पर एक नज़र

जितने यहोवा से प्यार करते हैं वे सब परखे जाएँगे। अय्यूब का ब्यौरा हमारा भरोसा बढ़ाता है कि हम वफादार रह सकते हैं और यहोवा की हुकूमत का समर्थन कर सकते हैं।

भजन की किताब पर एक नज़र

भजन की किताब बताती है कि यहोवा को ही पूरे विश्‍व पर हुकूमत करने का अधिकार है, यहोवा उनकी मदद करता है और उन्हें दिलासा देता है जो उससे प्यार करते हैं और यह भी कि यहोवा अपने राज के ज़रिए धरती के हालात बदल देगा।

नीतिवचन की किताब पर एक नज़र

करीब-करीब ज़िंदगी के हर पहलू के बारे में परमेश्‍वर की सलाह पाइए, फिर चाहे कारोबार हो या परिवार का मामला।

सभोपदेशक की किताब पर एक नज़र

राजा सुलैमान ने उन बातों पर ज़ोर दिया, जो ज़िंदगी में मायने रखती हैं और उसने यह भी बताया कि जो बातें परमेश्‍वर के स्तरों के खिलाफ हैं उनकी ज़िंदगी में कोई अहमियत नहीं।

श्रेष्ठगीत की किताब पर एक नज़र

जवान चरवाहे के लिए शूलेम्मिन का प्यार अटल था और उसके प्यार को “याह की लपटें” कहा गया है। ऐसा क्यों?

यशायाह की किताब पर एक नज़र

यशायाह की किताब में ऐसी ढेरों भविष्यवाणियाँ दर्ज़ हैं जो इस बात पर हमारा यकीन बढ़ाती हैं कि यहोवा की कही हर बात पूरी होती है और वह अपने लोगों को बचाता है।

यिर्मयाह की किताब पर एक नज़र

भविष्यवक्‍ता यिर्मयाह ने मुश्‍किलों के बावजूद परमेश्‍वर का दिया काम पूरा किया। सोचिए कि आज मसीही उससे क्या सीख सकते हैं।

विलापगीत की किताब पर एक नज़र

यिर्मयाह ने विलापगीत की किताब लिखी, जिसमें वह यरूशलेम के नाश पर शोक मनाता है और बताता है कि किस तरह पश्‍चाताप करने से परमेश्‍वर दया करता है।

यहेजकेल की किताब पर एक नज़र

यहेजकेल ने नम्रता और हिम्मत से परमेश्‍वर से मिली हर ज़िम्मेदारी निभायी, फिर चाहे वह कितनी भी मुश्‍किल क्यों न रही हो। उसकी मिसाल से हम बहुत कुछ सीख सकते हैं।

दानियेल की किताब पर एक नज़र

दानियेल और उसके साथी आज़माइशों के बावजूद परमेश्‍वर के वफादार रहे। उनकी अच्छी मिसाल के बारे में और भविष्यवाणियों के पूरा होने के बारे में पढ़ने से इन आखिरी दिनों में हमारा विश्‍वास मज़बूत होगा।

होशे की किताब पर एक नज़र

होशे की भविष्यवाणी से हम सीख सकते हैं कि जो लोग अपने पापों का पश्‍चाताप करते हैं, उन पर यहोवा कैसे दया करता है और वह किस तरह की उपासना चाहता है।

योएल की किताब पर एक नज़र

भविष्यवक्‍ता योएल ने यहोवा के आनेवाले भयानक दिन के बारे में भविष्यवाणी की और बताया कि बचाव का रास्ता क्या है। उसकी भविष्यवाणी आज हमारे लिए बहुत मायने रखती है।

आमोस की किताब पर एक नज़र

आमोस बहुत ही नम्र था इसलिए यहोवा ने उसे एक गंभीर ज़िम्मेदारी दी। हम आमोस से क्या सीख सकते हैं?

ओबद्याह की किताब पर एक नज़र

यह इब्रानी शास्त्र या पुराने नियम की सबसे छोटी किताब है। इसमें लिखी भविष्यवाणी हमें एक आशा देती है और वादा करती है कि भविष्य में पूरी दुनिया पर फिर से यहोवा की हुकूमत होगी।

योना की किताब पर एक नज़र

योना ने अपनी गलतियाँ सुधारी, परमेश्‍वर से मिली अपनी ज़िम्मेदारी पूरी की और उससे अटल प्यार और दया करने का सबक सीखा। उसके अनुभव से आप भी बहुत कुछ सीख सकते हैं।

मीका की किताब पर एक नज़र

परमेश्‍वर की प्रेरणा से लिखी गयी यह किताब हमें यकीन दिलाएगी कि यहोवा हमारा भला चाहता है और हमसे हद-से-ज़्यादा की माँग नहीं करता।

नहूम की किताब पर एक नज़र

यह भविष्यवाणी हमें यकीन दिलाती है कि यहोवा अपना हर वादा पूरा करता है और उन लोगों को दिलासा देता है जो शांति और उद्धार पाने के लिए उसके राज की आस देख रहे हैं।

हबक्कूक की किताब पर एक नज़र

हम इस बात का पूरा यकीन रख सकते हैं कि यहोवा बखूबी जानता है कि अपने लोगों को बचाने का सही समय और सही तरीका कौन-सा है।

सपन्याह की किताब पर एक नज़र

शायद हम भी सोचने लगें कि यहोवा के न्याय का दिन नहीं आएगा। लेकिन हमें अपनी सोच क्यों बदलनी चाहिए?

हाग्गै की किताब पर एक नज़र

हाग्गै की भविष्यवाणी इस बात पर ज़ोर देती है कि ज़िंदगी में सुख-सुविधा का सामान बटोरने से ज़्यादा परमेश्‍वर की उपासना ज़रूरी है।

जकरयाह की किताब पर एक नज़र

परमेश्‍वर की प्रेरणा से की गयी ढेरों भविष्यवाणियों ने बीते ज़माने में उसके लोगों का हौसला बढ़ाया। यही भविष्यवाणियाँ हमें यकीन दिलाती हैं कि आज यहोवा हमारे साथ भी है।

मलाकी की किताब पर एक नज़र

एक ऐसी भविष्यवाणी जिससे पता चलता है कि यहोवा के स्तर, उसकी दया और प्यार कभी बदलता नहीं। इस भविष्यवाणी में ऐसे सबक हैं जो आज भी काम आते हैं।

मत्ती की किताब पर एक नज़र

बाइबल की इस किताब की बुनियादी बातें जानिए, जो चार खुशखबरी की किताबों में से पहली किताब है।

मरकुस की किताब पर एक नज़र

खुशखबरी की किताबों में मरकुस की किताब सबसे छोटी है। यह इस बात की झलक देती है कि परमेश्‍वर के राज का राजा होने के नाते यीशु भविष्य में क्या-क्या करेगा।

लूका की किताब पर एक नज़र

लूका की किताब में ऐसी कौन-सी जानकारी है जो खुशखबरी की दूसरी किताबों में नहीं मिलती?

यूहन्‍ना की किताब पर एक नज़र

यूहन्‍ना की किताब बताती है कि यीशु को इंसानों से कितना प्यार था, उसने नम्रता की क्या मिसाल रखी और कैसे वही मसीहा है और परमेश्‍वर के राज का राजा है।

प्रेषितों की किताब पर एक नज़र

पहली सदी के मसीहियों ने सब राष्ट्रों के लोगों को चेला बनाने में बहुत मेहनत की। प्रेषितों की किताब पढ़कर आपमें भी प्रचार के लिए वही उमंग और जोश भर जाएगा।

रोमियों की किताब पर एक नज़र

इसमें बताया गया है कि यहोवा किसी के साथ भेदभाव नहीं करता और हमें यीशु मसीह पर क्यों विश्‍वास करना चाहिए।

1 कुरिंथियों की किताब पर एक नज़र

प्रेषित पौलुस की चिट्ठी में एकता, नैतिक शुद्धता, प्यार और मरे हुओं के ज़िंदा होने की शिक्षा के बारे में ईश्‍वर-प्रेरणा से सलाह दी गयी है।

2 कुरिंथियों की किताब पर एक नज़र

यहोवा जो “हर तरह का दिलासा देनेवाला परमेश्‍वर है” अपने सेवकों को मज़बूत करता है और सँभालता है।

गलातियों की किताब पर एक नज़र

गलातियों को लिखी पौलुस की चिट्ठी से हम आज भी फायदा पा सकते हैं। उसमें लिखी बातों पर चलने से सच्चे मसीही वफादार रह सकते हैं।

इफिसियों की किताब पर एक नज़र

इस ईश्‍वर-प्रेरित चिट्ठी में बताया गया है कि परमेश्‍वर यीशु मसीह के ज़रिए शांति और एकता लाएगा।

फिलिप्पियों की किताब पर एक नज़र

जब हम धीरज के साथ मुश्‍किलों का सामना करते हैं, तो इससे दूसरे मज़बूत बने रह सकते हैं।

कुलुस्सियों की किताब पर एक नज़र

यहोवा को खुश करने के लिए हमें सीखी बातों को लागू करना चाहिए, एक-दूसरे को दिल खोलकर माफ करना चाहिए और यीशु की भूमिका और अधिकार को कबूल करना चाहिए।

1 थिस्सलुनीकियों की किताब पर एक नज़र

यह ज़रूरी है कि हम ‘जागते रहें,’ ‘सब बातों को परखें,’ ‘लगातार प्रार्थना करते रहें’ और ‘एक-दूसरे का हौसला बढ़ाते रहें।’

2 थिस्सलुनीकियों की किताब पर एक नज़र

पौलुस ने यहोवा के दिन के बारे में भाई-बहनों की गलत सोच सुधारी और बढ़ावा दिया कि वे विश्‍वास में मज़बूत खड़े रहें।

1 तीमुथियुस की किताब पर एक नज़र

प्रेषित पौलुस ने तीमुथियुस को लिखी अपनी पहली चिट्ठी में मंडली को संगठन के कुछ तौर-तरीके सिखाए। उसने यह भी कहा कि वह झूठी शिक्षाओं से दूर रहे और पैसों के पीछे न भागे।

2 तीमुथियुस की किताब पर एक नज़र

पौलुस तीमुथियुस को बढ़ावा देता कि वह अपनी सेवा अच्छी तरह पूरी करे।

तीतुस की किताब पर एक नज़र

तीतुस को लिखे खत में पौलुस बताता है कि क्रेते की मंडली की समस्याओं को कैसे ठीक किया जा सकता है और प्राचीनों में क्या-क्या योग्यताएँ होनी चाहिए।

फिलेमोन की किताब पर एक नज़र

इस छोटी-सी चिट्ठी से हम नम्रता, कृपा और माफ करने के बारे में बहुत कुछ सीख सकते हैं।

इब्रानियों की किताब पर एक नज़र

मसीहियों की उपासना हाथ के बने मंदिर और जानवरों के बलिदानों से ज़्यादा श्रेष्ठ है।

याकूब की किताब पर एक नज़र

याकूब दमदार मिसालों के ज़रिए मसीही ज़िंदगी से जुड़ी ज़रूरी बातें सिखाता है।

1 पतरस की किताब पर एक नज़र

पतरस की पहली चिट्ठी में हमें बढ़ावा दिया गया है कि हम परमेश्‍वर की सेवा में कड़ी मेहनत करें और अपनी सारी चिंताओं का बोझ परमेश्‍वर पर डाल दें।

2 पतरस की किताब पर एक नज़र

पतरस की दूसरी चिट्ठी में हमें बढ़ावा दिया गया है कि हम एक नए आकाश और एक नयी पृथ्वी का इंतज़ार करते समय परमेश्‍वर के वफादार रहें।

1 यूहन्‍ना की किताब पर एक नज़र

यूहन्‍ना की चिट्ठी में हमें मसीह के विरोधियों की बातें सुनने से खबरदार किया गया है और बताया है कि हमें किन बातों से प्यार करना चाहिए और किन बातों से नफरत।

2 यूहन्‍ना की किताब पर एक नज़र

यूहन्‍ना की दूसरी चिट्ठी से हमें बढ़ावा मिलता है कि हम सच्चाई की राह पर चलते रहें और धोखा देनेवालों से सावधान रहें।

3 यूहन्‍ना की किताब पर एक नज़र

यूहन्‍ना की तीसरी चिट्ठी से हम सीखते हैं कि मसीहियों को मेहमान-नवाज़ी करनी चाहिए।

यहूदा की किताब पर एक नज़र

यहूदा बताता है कि कुछ लोग किस तरह मसीहियों को गुमराह करते हैं और उन्हें दुष्ट काम करने के लिए उकसाते हैं।

प्रकाशितवाक्य की किताब पर एक नज़र

प्रकाशितवाक्य की किताब में दिए दर्शनों में बताया गया है कि परमेश्‍वर का राज इंसानों और धरती के लिए परमेश्‍वर का मकसद कैसे पूरा करेगा।

और जानिए

किताबें और ब्रोशर

परमेश्वर का पैगाम—आपके नाम

बाइबल में क्या बताया गया है?

नयी दुनिया अनुवाद

पवित्र शास्त्र का नयी दुनिया अनुवाद (अध्ययन बाइबल)

इस बाइबल में तसवीरें, अध्ययन नोट, संबंधित आयतें और दूसरी खासियतें हैं जिनकी मदद से आप बाइबल का गहराई से अध्ययन कर सकते हैं।