इस जानकारी को छोड़ दें

नौजवानों के सवाल

मैं कसरत करने का मन कैसे बनाऊँ?

मैं कसरत करने का मन कैसे बनाऊँ?

 मुझे कसरत क्यों करनी चाहिए?

कई देशों में, नौजवान ज़्यादातर काम बैठे-बैठे करते हैं और बहुत कम चलते-फिरते हैं जिसका बुरा असर उनकी सेहत पर पड़ता है। पवित्र शास्त्र में भी लिखा है, “शरीर की कसरत फायदेमंद होती है।” (1 तीमुथियुस 4:8) ज़रा इन बातों पर ध्यान दीजिए।

  • कसरत करने से आप अच्छा महसूस करेंगे। जब हम चलते-फिरते हैं या कसरत करते हैं, तो हमारा दिमाग एंडोर्फिन नाम का एक रसायन छोड़ता है जिसकी वजह से हम शांत रह पाते हैं और अच्छा महसूस करते हैं। कुछ लोग कहते हैं कि कसरत करने से हम हद-से-ज़्यादा निराश नहीं होते।

    “सुबह-सुबह दौड़ लगाने से मेरा मूड अच्छा रहता है और मेरा दिन भी अच्छा गुज़रता है। मैं बहुत-से काम कर पाती हूँ और खुश रहती हूँ।”—रेजीना।

  • कसरत करने से आपकी सेहत अच्छी रहेगी। हर दिन कसरत करने से आपका शरीर मज़बूत होगा, आप स्वस्थ रहेंगे और आपका आत्म-विश्‍वास भी बढ़ेगा।

    “एक साल पहले तक मैं एक पुल-अप (ऊँचाई पर लगे डंडे को पकड़कर खुद को ऊपर उठाना जब तक आपका मुँह उस डंडे तक ना आ जाए) भी नहीं कर पाती थी। लेकिन आज मैं दस पुल-अप एक-साथ कर सकती हूँ। इस तरह मैं अपने शरीर का खयाल रखती हूँ।”—औलिवीया।

  • कसरत करने से आप अपनी जान बचा पाएँगे। लगातार कसरत करने से हमारा दिल और शरीर दोनों ही अच्छी तरह काम कर पाते हैं। हलकी-फुलकी कसरत करने से हमारे दिल में खून पहुँचानेवाली नसें बंद नहीं होती। नसों का बंद होना या सिकुड़ना आज लोगों की मौत का एक आम कारण है।

    “जब हम हर दिन अच्छे से कसरत करते हैं तो दिखाते हैं कि हम परमेश्‍वर के दिए शरीर की कदर करते हैं।”—जैसिका।

सौ बात की एक बात: लगातार कसरत करने के बहुत फायदे होते हैं। इससे हम आज भी स्वस्थ रहते हैं और भविष्य में भी स्वस्थ रहेंगे। टॉन्या नाम की एक लड़की कहती है, “कभी-कभी मेरे पास कसरत न करने के बहुत-से बहाने होते हैं, फिर भी जब मैं कसरत करती हूँ तो मुझे कभी अफसोस नहीं होता। आपको भी सैर पर जाने या दौड़ लगाने का कभी अफसोस नहीं होगा।”

अगर आप लगातार एक गाड़ी का इस्तेमाल कर रहे हैं लेकिन उसका रख-रखाव नहीं करते, तो वह खराब हो जाएगी। उसी तरह, अगर आप कसरत नहीं करेंगे तो आपकी सेहत खराब हो सकती है।

 मैं कसरत क्यों नहीं कर पाता?

इसकी बहुत-सी वजह हो सकती हैं। जैसे, शायद आप सोचें:

  • मैं पहले से ही सेहतमंद हूँ। “मुझे लगता है कि जब लोग जवान होते हैं तो वे सोचते हैं कि सेहत से जुड़ी परेशानियाँ सिर्फ बुज़ुर्गों को होती हैं और वे तो स्वस्थ हैं इसलिए उन्हें कभी कोई बीमारी नहीं होगी।”—सोफिया।

  • मुझे समय नहीं मिलता। “मैं बहुत व्यस्त रहती हूँ। मुझे खाने और सोने के लिए भी अलग से समय निकालना पड़ता है। ऐसे में कसरत करने के लिए समय निकालना बहुत मुश्‍किल है।”—क्लैरिसा।

  • मैं जिम नहीं जाता। “सेहतमंद रहने के लिए हम जिम जाते हैं जिसके लिए हमें हर महीने पैसे देने होते हैं और इस तरह हमारा बहुत सारा पैसा खर्च हो जाता है।”—जीन।

ज़रा सोचिए:

ऐसी कौन-सी बात है जिसकी वजह से आप कसरत नहीं कर पाते? मेहनत कीजिए ताकि आप उस रुकावट को पार कर सकें।

 मैं अच्छी तरह कसरत कैसे कर सकता हूँ?

  • इन सुझावों को अपनाकर आप अच्छी तरह कसरत कर सकते हैं। खुद अपनी सेहत का ध्यान रखिए।—गलातियों 6:5.

  • कसरत न करने के बहाने मत बनाइए। (सभोपदेशक 11:4) जैसे, कसरत करने के लिए आपको जिम जाने की ज़रूरत नहीं है। आप रोज़ घर पर ही ऐसी कोई कसरत कर सकते हैं जिसमें आपको मज़ा आता है।

  • अलग-अलग तरह की कसरत करने के लिए दूसरों से मदद लीजिए।—नीतिवचन 20:18.

  • एक अच्छा शेड्यूल बनाइए। छोटे-छोटे लक्ष्य रखिए और जिन्हें आप पूरा कर लेते हैं उन्हें लिखिए। इससे आप लगातार कसरत करते रहेंगे।—नीतिवचन 21:5.

  • हो सके तो किसी के साथ कसरत कीजिए क्योंकि आपका दोस्त आपको हर दिन कसरत करने के लिए कहेगा तब भी जब आपका मन नहीं होगा।—सभोपदेशक 4:9, 10.

  • इस बात को समझिए कि आप चूक सकते हैं। लेकिन हार मत मानिए और कसरत करते रहिए।—नीतिवचन 24:10.

सही नज़रिया रखिए

 बाइबल कहती है कि हम सभी को फिर चाहे हम लड़का हों या लड़की “हर बात में संयम बरतना” चाहिए। (1 तीमुथियुस 3:2, 11) इसलिए हद-से-ज़्यादा कसरत मत कीजिए। जो लोग ऐसा करते हैं उन पर इसका उलटा असर होता है। जूलिया नाम की एक लड़की कहती है, “कोई भी लड़की ऐसे लड़के को पसंद नहीं करती जो दिखने में तो अच्छा है लेकिन अपने दिमाग का इस्तेमाल नहीं करता।”

उन सलाहों से भी सावधान रहिए जो आपको हद-से-ज़्यादा कसरत करने का बढ़ावा देती हैं क्योंकि इससे आपको चोट लग सकती है और ज़िंदगी की “ज़्यादा अहमियत रखनेवाली बातों” से भी आपका ध्यान भटक सकता है।—फिलिप्पियों 1:10.

इसके अलावा, अगर आप दूसरों की तरह दिखने की कोशिश करेंगे तो आप निराश हो सकते हैं। वेरा नाम की एक लड़की कहती है, “मैंने देखा है कि बहुत-सी लड़कियाँ उन लोगों की तसवीरें इकट्टा करती हैं जिनकी तरह वे दिखना चाहती हैं। जब भी वे निराश होती हैं तो वे उन तसवीरों को देखती हैं और उनसे अपनी तुलना करने लगती हैं। लेकिन ऐसा करके वे और भी निराश हो जाती हैं। इसलिए सेहतमंद रहने के लिए मेहनत कीजिए, न की सुंदर दिखने के लिए।”