इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

मैं अच्छे नंबर कैसे लाऊँ?

मैं अच्छे नंबर कैसे लाऊँ?

आप क्या कर सकते हैं

अच्छा सोचिए! अगर आप यह सोचते रहें कि पढ़ाई के मामले में आप सुधर ही नहीं सकते, तो इससे आपका नुकसान ही होगा। इसलिए जब कभी आपको अपनी काबिलीयतों पर शक होने लगता है, तो उन बातों के बारे में सोचिए जो आप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, जब लोगों ने (शायद बेवजह) पौलुस की बोलने की काबिलीयत में नुक्स निकाले, तो उसने जवाब में कहा, “चाहे मैं बोलने में अनाड़ी सही, मगर ज्ञान में हरगिज़ नहीं हूँ।” (2 कुरिंथियों 10:10; 11:6) पौलुस अपनी कमज़ोरियों से वाकिफ था। लेकिन वह अपनी काबिलीयतें भी जानता था। आप अपने बारे में क्या सोचते हैं? आपमें कौन-सी काबिलीयतें हैं? अगर आपको खुद में कोई काबिलीयत नज़र नहीं आती, तो क्यों न आप किसी बड़े से पूछें जो आपको आपकी काबिलीयतें पहचानने में और उनका पूरा-पूरा इस्तेमाल करने में मदद कर सकता है।

अच्छी तरह पढ़ाई करने की आदत डालिए। पढ़ाई में कामयाब होने का कोई आसान तरीका नहीं है। आज नहीं तो कल आपको पढ़ाई तो करनी ही पड़ेगी। शायद पढ़ाई के नाम से ही आपकी नाक चढ़ जाती हो। लेकिन, पढ़ाई करना फायदेमंद है। यहाँ तक कि अगर आप थोड़ी मेहनत करें, तो शायद आपको इसमें मज़ा भी आने लगे। अच्छी तरह पढ़ाई करने की आदत डालने के लिए आपको एक अच्छा शेड्यूल बनाना होगा। याद रखिए कि पढ़ाई को अहमियत दी जानी चाहिए। हाँ यह भी सच है कि बाइबल कहती है, “हँसने का भी समय . . . और नाचने का भी समय है।” (सभोपदेशक 3:1, 4; 11:9) इसलिए ज़्यादातर जवानों की तरह, आप भी शायद मौज-मस्ती के लिए कुछ समय अलग से रखें। लेकिन सभोपदेशक 11:4 हमें खबरदार करता है, “जो वायु को ताकता रहेगा वह बीज बोने न पाएगा; और जो बादलों को देखता रहेगा वह लवने न पाएगा।” इससे हम क्या सबक सीख सकते हैं? कभी-भी कोई काम मत टालिए। नहीं तो आप ज़रूरी काम नहीं कर पाएँगे। पहले पढ़ाई और खेल-कूद दूसरे नंबर पर। चिंता मत कीजिए, आपको दोनों काम करने के लिए समय मिलेगा!

ठीक जैसे वज़न उठाने से आप हट्टे-कट्टे बन सकते हैं, उसी तरह अच्छी तरह पढ़ाई करने की आदत डालने से आप स्कूल में और अच्छा कर सकते हैं।