इस जानकारी को छोड़ दें

पुरातत्ववेत्ताओं की खोज से राजा दाविद के सच में होने का सबूत मिला

पुरातत्ववेत्ताओं की खोज से राजा दाविद के सच में होने का सबूत मिला

बाइबल के मुताबिक इसराएल का राजा दाविद ईसा पूर्व ग्यारहवीं सदी में जीया था और उसके वंशजों ने सदियों तक राज किया। लेकिन कुछ आलोचकों ने दावा किया है कि दाविद सच में नहीं जीया था, बल्कि वह एक काल्पनिक व्यक्‍ति है जिसका काफी सालों बाद कथा-कहानियों में ज़िक्र होने लगा। तो सवाल उठता है, क्या राजा दाविद सच में जीया था?

सन्‌ 1993 में पुरातत्वज्ञानी अवराम बीराँ और उनकी टीम ने उत्तरी इसराएल के तेल दान नाम के प्राचीन टीले पर पत्थर का एक टुकड़ा खोज निकाला। अनुमान लगाया गया है कि यह पत्थर ईसा पूर्व नौवीं सदी का है। इस पर प्राचीन शामी लिपि में “दाविद का घराना” शब्द तराशे हुए हैं। यह पत्थर शायद उस स्मारक का हिस्सा है, जिसे अरामी लोगों ने इसराएलियों को हराने के बाद शेखी मारने के लिए खड़ा किया था।

बाइबल हिस्ट्री डेली  के एक लेख में बताया गया है कि कुछ लोगों का कहना है कि इस पत्थर के टुकड़े से यह साबित नहीं हो जाता कि राजा दाविद सच में जीया था। लेकिन कई बाइबल विद्वानों और पुरातत्वज्ञानियों का मानना है कि तेल दान टीले पर मिला पत्थर का यह टुकड़ा इस बात का ठोस सबूत है कि बाइबल में बताया गया राजा दाविद सच में जीया था। यह एक अहम खोज है जिसके बारे में बिब्लिकल आर्कियॉलजी रिव्यू  नाम की वैज्ञानिक पत्रिका में लिखा गया था।