इस जानकारी को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

बाइबल की किताबों की सूची

ईसा पूर्व की इब्रानी शास्त्र की किताबें

किताब का नाम

लेखक

लिखने की जगह

लिखना पूरा हुआ (ई.पू.)

कितने समय का ब्यौरा (ई.पू.)

उत्पत्ति

मूसा

वीराना

1513

“शुरूआत” से 1657

निर्गमन

मूसा

वीराना

1512

1657-1512

लैव्यव्यवस्था

मूसा

वीराना

1512

1 महीना (1512)

गिनती

मूसा

वीराना और मोआब के मैदान

1473

1512-1473

व्यवस्थाविवरण

मूसा

मोआब के मैदान

1473

2 महीने (1473)

यहोशू

यहोशू

कनान

क. 1450

1473-क. 1450

न्यायियों

शमूएल

इसराएल

क. 1100

क. 1450-क. 1120

रूत

शमूएल

इसराएल

क. 1090

न्यायियों के 11 साल

1 शमूएल

शमूएल; गाद; नातान

इसराएल

क. 1078

क. 1180-1078

2 शमूएल

गाद; नातान

इसराएल

क. 1040

1077-क. 1040

1 राजा

यिर्मयाह

यहूदा

580

क. 1040-911

2 राजा

यिर्मयाह

यहूदा और मिस्र

580

क. 920-580

1 इतिहास

एज्रा

यरूशलेम (?)

क. 460

1 इत 9:44 के बाद: क. 1077-1037

2 इतिहास

एज्रा

यरूशलेम (?)

क. 460

क. 1037-537

एज्रा

एज्रा

यरूशलेम

क. 460

537-क. 467

नहेमायाह

नहेमायाह

यरूशलेम

443 ब.

456-443 ब.

एस्तेर

मोर्दकै

शूशन, एलाम

क. 475

493-क. 475

अय्यूब

मूसा

वीराना

क. 1473

140 साल से भी ज़्यादा 1657-1473 के बीच

भजन

दाविद; दूसरे लोग

 

क. 460

 

नीतिवचन

सुलैमान; आगूर; लमूएल

यरूशलेम

क. 717

 

सभोपदेशक

सुलैमान

यरूशलेम

1000 प.

 

श्रेष्ठगीत

सुलैमान

यरूशलेम

क. 1020

 

यशायाह

यशायाह

यरूशलेम

732 ब.

क. 778-732 ब.

यिर्मयाह

यिर्मयाह

यहूदा; मिस्र

580

647-580

विलापगीत

यिर्मयाह

यरूशलेम के पास

607

 

यहेजकेल

यहेजकेल

बैबिलोन

क. 591

613-क. 591

दानियेल

दानियेल

बैबिलोन

क. 536

618-क. 536

होशे

होशे

सामरिया (ज़िला)

745 ब.

804 प.-745 ब.

योएल

योएल

यहूदा

क. 820 (?)

 

आमोस

आमोस

यहूदा

क. 804

 

ओबद्याह

ओबद्याह

 

क. 607

 

योना

योना

 

क. 844

 

मीका

मीका

यहूदा

717 प.

क. 777-717

नहूम

नहूम

यहूदा

632 प.

 

हबक्कूक

हबक्कूक

यहूदा

क. 628 (?)

 

सपन्याह

सपन्याह

यहूदा

648 प.

 

हाग्गै

हाग्गै

दोबारा बना यरूशलेम

520

112 दिन (520)

जकरयाह

जकरयाह

दोबारा बना यरूशलेम

518

520-518

मलाकी

मलाकी

दोबारा बना यरूशलेम

443 ब.

 

 ईसवी सन्‌ में लिखी यूनानी शास्त्र की किताबें

किताब का नाम

लेखक

लिखने की जगह

लिखना पूरा हुआ (ई.)

कितने समय का ब्यौरा

मत्ती

मत्ती

इसराएल

क. 41

ई.पू. 2-ई. 33

मरकुस

मरकुस

रोम

क. 60-65

ई. 29-33

लूका

लूका

कैसरिया

क. 56-58

ई.पू. 3-ई. 33

यूहन्‍ना

प्रेषित यूहन्‍ना

इफिसुस या आस-पास

क. 98

पहली 18 आयतों के बाद, ई. 29-33

प्रेषितों

लूका

रोम

क. 61

33-क. ई. 61

रोमियों

पौलुस

कुरिंथ

क. 56

 

1 कुरिंथियों

पौलुस

इफिसुस

क. 55

 

2 कुरिंथियों

पौलुस

मकिदुनिया

क. 55

 

गलातियों

पौलुस

कुरिंथ या सीरिया का अंताकिया

क. 50-52

 

इफिसियों

पौलुस

रोम

क. 60-61

 

फिलिप्पियों

पौलुस

रोम

क. 60-61

 

कुलुस्सियों

पौलुस

रोम

क. 60-61

 

1 थिस्सलुनीकियों

पौलुस

कुरिंथ

क. 50

 

2 थिस्सलुनीकियों

पौलुस

कुरिंथ

क. 51

 

1 तीमुथियुस

पौलुस

मकिदुनिया

क. 61-64

 

2 तीमुथियुस

पौलुस

रोम

क. 65

 

तीतुस

पौलुस

मकिदुनिया (?)

क. 61-64

 

फिलेमोन

पौलुस

रोम

क. 60-61

 

इब्रानियों

पौलुस

रोम

क. 61

 

याकूब

याकूब (यीशु का भाई)

यरूशलेम

62 प.

 

1 पतरस

पतरस

बैबिलोन

क. 62-64

 

2 पतरस

पतरस

बैबिलोन (?)

क. 64

 

1 यूहन्‍ना

प्रेषित यूहन्‍ना

इफिसुस या आस-पास

क. 98

 

2 यूहन्‍ना

प्रेषित यूहन्‍ना

इफिसुस या आस-पास

क. 98

 

3 यूहन्‍ना

प्रेषित यूहन्‍ना

इफिसुस या आस-पास

क. 98

 

यहूदा

यहूदा (यीशु का भाई)

इसराएल (?)

क. 65

 

प्रकाशितवाक्य

प्रेषित यूहन्‍ना

पतमुस

क. 96

 

[कुछ किताबों के बारे में पक्के तौर पर नहीं कहा जा सकता कि उन्हें किसने लिखा था या वे कहाँ लिखी गयी थीं। कई तारीखें सिर्फ आस-पास के साल हैं। ब. का मतलब है “के बाद।” प. का मतलब है “के पहले” और क. का मतलब है “करीब।” ई.पू. का मतलब है, “ईसा पूर्व।” ई. का मतलब है “ईसवी सन्‌।”]