जकरयाह 12:1-14

12  परमेश्‍वर की तरफ से संदेश: यहोवा, जिसने आकाश को ताना है,+जिसने पृथ्वी की नींव डाली है,+जिसने इंसान में जान* फूँकी है, वह ऐलान करता है: “इसराएल के बारे में यहोवा का यह कहना है,  मैं यरूशलेम को ऐसा प्याला* बना दूँगा जिसे पीकर आस-पास के सब लोग लड़खड़ाएँगे। यहूदा के साथ-साथ यरूशलेम की भी घेराबंदी की जाएगी।+  उस दिन मैं यरूशलेम को सब देशों के लोगों के लिए भारी पत्थर बना दूँगा। जो कोई उसे उठाएगा वह बुरी तरह घायल हो जाएगा।+ धरती के सब राष्ट्र उसके खिलाफ इकट्ठा होंगे।”+  यहोवा ऐलान करता है, “उस दिन मैं हर घोड़े में आतंक फैला दूँगा और उसके सवार को पागल कर दूँगा। मैं यहूदा के घराने पर नज़र रखूँगा, मगर राष्ट्रों के सब घोड़ों को अंधा कर दूँगा।  यहूदा के शेख* अपने मन में कहेंगे, ‘यरूशलेम के निवासी हमारी ताकत हैं क्योंकि सेनाओं का परमेश्‍वर यहोवा उनके साथ है।’+  उस दिन मैं यहूदा के शेख को ऐसा बना दूँगा, जैसे वे लकड़ियों के ढेर में जलती अंगीठी हों और कटे हुए अनाज की बालों में जलती मशाल हों।+ वे अपने दाएँ-बाएँ सब लोगों को भस्म कर देंगे।+ और यरूशलेम के निवासी वापस अपनी नगरी* यरूशलेम में बस जाएँगे।+  यहोवा पहले यहूदा के तंबुओं को बचाएगा ताकि दाविद के घराने की शान और यरूशलेम के निवासियों की शान, यहूदा से बढ़कर न हो।  उस दिन यहोवा ढाल बनकर यरूशलेम के निवासियों की रक्षा करेगा।+ उस दिन, उनमें से ठोकर खानेवाला* दाविद के समान ताकतवर हो जाएगा। और दाविद का घराना ईश्‍वर की तरह, हाँ, यहोवा के स्वर्गदूत की तरह उन्हें राह दिखाएगा।+  उस दिन मैं यरूशलेम के खिलाफ आनेवाले सभी राष्ट्रों का सर्वनाश कर दूँगा।+ 10  मैं दाविद के घराने और यरूशलेम के निवासियों पर अपनी पवित्र शक्‍ति उँडेलूँगा। वे मुझसे बिनती करेंगे और मेरी मंज़ूरी पाएँगे। वे उसे देखेंगे जिसे उन्होंने भेदा है+ और उसके लिए ऐसे रोएँगे जैसे इकलौते बेटे की मौत हो गयी हो। वे ऐसा भारी शोक मनाएँगे जैसे पहलौठा बेटा मर गया हो। 11  उस दिन यरूशलेम में बड़ा मातम मनाया जाएगा, ऐसा मातम जैसा मगिद्दो के मैदानी इलाके में, हदद-रिम्मोन में मनाया गया था।+ 12  पूरा देश छाती पीटेगा और हर परिवार अलग-अलग रोएगा। दाविद के घराने का परिवार अलग रोएगा और उनकी औरतें अलग। नातान+ के घराने का परिवार अलग रोएगा और उनकी औरतें अलग। 13  लेवी+ के घराने का परिवार अलग रोएगा और उनकी औरतें अलग। शिमियों के घराने+ का परिवार अलग रोएगा और उनकी औरतें अलग। 14  बाकी परिवार और उनकी औरतें भी अलग-अलग रोएँगे।

कई फुटनोट

या “साँस।”
या “कटोरा।”
शेख, गोत्र का प्रधान था।
या “अपनी सही जगह।”
या “सबसे कमज़ोर जन।”

अध्ययन नोट

तसवीर और ऑडियो-वीडियो