इस जानकारी को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

 पहले पेज का विषय | कैसे डालें अच्छी आदतें

3 हिम्मत मत हारिए

3 हिम्मत मत हारिए

यह माना जाता है कि एक नयी आदत डालने में 21 दिन लगते हैं। पर जानकारों का कहना है कि कुछ लोगों को इससे कम समय लगता है, तो कुछ को इससे भी ज़्यादा। यह जानकर शायद आप सोचें कि मुझे तो बहुत वक्‍त लगेगा।

मान लीजिए कि आप हफ्ते में तीन बार कसरत करने की आदत डालना चाहते हैं।

  • पहले हफ्ते तो आपने तीन दिन कसरत की।

  • दूसरे हफ्ते आप दो दिन कर पाए।

  • तीसरे हफ्ते आपने फिर से तीन दिन की।

  • चौथे हफ्ते बहुत मुश्किल से आप एक ही बार कर पाए।

  • पाँचवें हफ्ते आपने फिर से तीन दिन की और उसके बाद से आप हर हफ्ते तीन बार कर पाते हैं।

आपको यह नयी आदत डालने में पूरे पाँच हफ्ते लगे। शायद यह एक बहुत लंबा समय लगे, लेकिन जब आपमें यह नयी आदत आ जाएगी, तो आपको बहुत खुशी होगी।

पवित्र शास्त्र की सलाह: “धर्मी चाहे सात बार गिरे तौभी उठ खड़ा होता है।”नीतिवचन 24:16.

इस सलाह के मुताबिक हमें हिम्मत नहीं हारनी चाहिए क्योंकि जैसे लिखा है कि ये बात मायने नहीं रखती कि हम कितनी बार गिरे, बल्कि यह कि हम कितनी बार गिरकर फिर उठे।

आखिर में यह बात मायने नहीं रखती कि हम कितनी बार नाकाम हुए, बल्कि यह कि हमने कितनी बार कोशिश की

आप क्या कर सकते हैं?

  • अगर आप एक या दो बार अपनी आदत बरकरार नहीं रख पाते, तो हार मत मानिए। खुद को नयी आदत के मुताबिक ढालते वक्‍त अड़चनें आएँगी। ऐसा बहुत-से लोगों के साथ होता है और आपके साथ भी होगा।

  • उस वक्‍त के बारे में सोचिए जब आप अपनी कोशिशों में कामयाब हो पाए। उदाहरण के लिए, अगर आप अपने बच्चों से हर वक्‍त प्यार से पेश आना चाहते हैं, तो सोचिए, ‘पिछली बार कब मैं गुस्से के मारे बच्चों पर चिल्लाना चाहती थी, लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया? तब मैंने खुद को रोकने के लिए क्या किया? दोबारा गुस्सा आने पर मैं कैसे खुद को रोक सकती हूँ?’ इस तरह सोचने से आप कोशिश करना जारी रखेंगे, बजाय यह सोचने के कि मुझसे यह नहीं होगा।

क्या आप जानना चाहते हैं कि पवित्र शास्त्र के सिद्धांत कैसे आपको अपनी ज़िंदगी के दूसरे पहलुओं में मदद कर सकते हैं, जैसे चिंता का सामना करने में, परिवार को सुखी बनाने में या फिर सच्ची खुशी पाने में? आप इस बारे में किसी भी यहोवा के साक्षी से बात कर सकते हैं या फिर हमारी वेबसाइट jw.org पर जा सकते हैं। ▪ (g16-E No. 4)