इस जानकारी को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

क्या आप जानते हैं?

क्या आप जानते हैं?

क्या रोमी सरकार ऐसे लोगों की लाशें दफनाने की इजाज़त देती थी, जिन्हें यीशु की तरह काठ पर लटकाकर मार डाला जाता था?

बाइबल में बताया गया है कि यीशु को दो अपराधियों के बीच काठ पर लटकाकर मार डाला गया था। और ज़्यादातर लोग इस बात पर यकीन करते हैं। (मत्ती 27:35-38) बाइबल में यह भी बताया गया है कि उसकी मौत के बाद उसकी लाश को एक कब्र में दफनाया गया। पर कुछ लोगों ने इस बात पर सवाल उठाया है।​—मर. 15:42-46.

कुछ जानकारों का मानना था कि जिन्हें काठ पर लटकाकर मार डाला जाता था, उन लोगों की लाशों को कब्र में दफनाने नहीं दिया जाता था। इस बारे में एरियल सबार नाम के पत्रकार ने स्मिथसोनियन पत्रिका में लिखा कि ‘उस ज़माने में सिर्फ अपराधियों को इस तरह मारा जाता था, इसलिए कुछ विद्वानों का कहना था कि रोमी सरकार ऐसे लोगों को इज़्ज़त से थोड़ी ना दफनाने देती होगी।’ रोमी लोग चाहते थे कि इन अपराधियों की सबके सामने बेइज़्ज़ती हो। और ऐसा मालूम पड़ता है कि उनकी मौत के बाद वे अकसर उनकी लाश को काठ पर ही छोड़ देते थे, ताकि जंगली जानवर और पक्षी आकर उनका माँस नोच खाएँ। कुछ वक्‍त बाद उन्हें बाकी अपराधियों की लाशों के साथ फेंक दिया जाता था।

लेकिन क्या इसका यह मतलब है कि किसी भी यहूदी अपराधी को इज़्ज़त से नहीं दफनाया गया? सन्‌ 1968 में जब कुछ खोज करनेवाले यरूशलेम के पास खुदाई कर रहे थे, तो एक बहुत ही अनोखी चीज़ उनके हाथ लगी। उन्हें एक यहूदी घराने की कब्र में एक बक्सा मिला जिसमें एक आदमी की हड्डियाँ रखी हुई थीं। इस आदमी को पहली सदी में मार डाला गया था और फिर दफना दिया गया था। उस बक्से में उन्हें उसकी एड़ी की हड्डी मिली जिसमें 4.5 इंच (11.5 सें.मी.) की एक कील थी जो एक लकड़ी के पट्टे में ठोंकी गयी थी। इसी बारे में एरीयल सबार ने लिखा, ‘सालों से विद्वान बहस कर रहे थे कि यीशु को दफनाया गया था या नहीं। लेकिन फिर येहोखनेन नाम के एक आदमी की एड़ी की हड्डी मिली जिसे यीशु के ज़माने में क्रूस पर लटकाकर मार डाला गया था। इससे साफ हो गया कि बाइबल में यीशु को दफनाने के बारे में जो लिखा है, वह बिलकुल सच है। और हम कह सकते हैं कि रोमी लोगों ने कुछ यहूदी अपराधियों को दफनाने की इजाज़त दी थी।’

येहोखनेन की हड्डी को देखकर यह तो नहीं कहा जा सकता कि यीशु को ठीक किस तरह काठ पर लटकाया गया था और लोगों की अब भी इस बारे में अलग-अलग राय है। लेकिन इससे यह ज़रूर पता चलता है कि उस ज़माने में कुछ अपराधियों की लाशों को यूँ ही फेंका नहीं गया, बल्कि इज़्ज़त से दफनाया गया। यह इस बात का सबूत है कि बाइबल में यीशु को दफनाने के बारे में जो लिखा है, वह बिलकुल सही है और हम उस पर यकीन कर सकते हैं।

सबसे बढ़कर, यहोवा ने पहले ही बता दिया था कि यीशु को अमीरों के साथ गाड़ा जाएगा और यहोवा की बात हर हाल में पूरी होती है।​—यशा. 53:9; 55:11.