इस जानकारी को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

अतिरिक्‍त लेख

यीशु मसीह—वह मसीहा जिसके आने का वादा किया गया

यीशु मसीह—वह मसीहा जिसके आने का वादा किया गया

यहोवा परमेश्वर ने बाइबल के कई नबियों को वह सारी जानकारी लिखने के लिए प्रेरित किया, जो हमें मसीहा को पहचानने में मदद देती है। इन नबियों ने इंसान का उद्धार करनेवाले इस मसीहा के जन्म, उसकी सेवा और मौत के बारे में बहुत-सी जानकारी लिखी। बाइबल की ये सारी भविष्यवाणियाँ यीशु मसीह में पूरी हुईं। इन भविष्यवाणियों में बतायी एक-एक बात जिस हद तक पूरी हुई है, यह देखकर हम दंग रह जाते हैं। मिसाल के तौर पर, आइए हम मसीहा के जन्म और बचपन की कुछ घटनाओं पर गौर करें जिनके बारे में बहुत पहले लिख दिया गया था।

यशायाह नबी ने भविष्यवाणी की थी कि मसीहा, राजा दाऊद का वंशज होगा। (यशायाह 9:7) यीशु वाकई दाऊद के खानदान में पैदा हुआ।मत्ती 1:1, 6-17.

परमेश्वर के एक और नबी, मीका ने भविष्यवाणी की थी कि यह बालक “बेतलेहेम एप्राता” में पैदा होगा और बाद में राजा बनेगा। (मीका 5:2) यीशु के जन्म के वक्‍त इस्राएल में बेतलेहेम नाम के दो नगर थे। एक नगर देश के उत्तरी इलाके में नासरत के पास था, और दूसरा यहूदा में यरूशलेम के पास। यरूशलेम के पासवाले बेतलेहेम का नाम पहले एप्राता था। यीशु इसी नगर में पैदा हुआ, ठीक जैसे भविष्यवाणी में कहा गया था।मत्ती 2:1.

बाइबल की एक और भविष्यवाणी में बताया गया था कि परमेश्वर के बेटे को “मिस्र से बुलाया” जाएगा। बालक यीशु को मिस्र ले जाया गया। और हेरोदेस की मौत के बाद उसे मिस्र से वापस लाया गया। इस तरह यह भविष्यवाणी भी पूरी हुई।होशे 11:1; मत्ती 2:15.

 मसीहा के बारे में भविष्यवाणियाँ” नाम के चार्ट में, “भविष्यवाणी” शीर्षक के नीचे दी गयी आयतों में मसीहा के बारे में बहुत-सी बातें लिखी हैं। इन आयतों की तुलना “पूर्ति” के नीचे दी गयी आयतों से कीजिए। ऐसा करने से परमेश्वर के वचन की सच्चाई पर आपका विश्वास और भी मज़बूत होगा।

इन आयतों को पढ़ते वक्‍त याद रखिए कि इनमें की गयी भविष्यवाणियाँ, यीशु के पैदा होने से सैकड़ों साल पहले लिखी गयी थीं। यीशु ने कहा था: “अवश्य है, कि जितनी बातें मूसा की व्यवस्था और भविष्यद्वक्ताओं और भजनों की पुस्तकों में, मेरे विषय में लिखी हैं, सब पूरी हों।” (लूका 24:44) आप खुद अपनी बाइबल में सबूत देख सकते हैं कि इन भविष्यवाणियों की एक-एक बात पूरी हुई है।