हर साल यहोवा के साक्षी, यीशु की मौत की यादगार उसी तरह मनाते हैं जिस तरह उसने कहा था। (लूका 22:19, 20) हम आपको इस खास समारोह में आने का न्यौता देते हैं। वहाँ आप जानेंगे कि उसकी कुरबानी से आप इस धरती पर हमेशा की ज़िंदगी कैसे पा सकते हैं।