इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

ऑनलाइन बाइबल | पवित्र शास्त्र का नयी दुनिया अनुवाद

परमेश्‍वर के वचन को जानिए

बाइबल में हमारे लिए परमेश्‍वर का संदेश दिया गया है। यह बताती है कि हम ज़िंदगी में कामयाब कैसे हो सकते हैं और परमेश्‍वर की मंज़ूरी कैसे पा सकते हैं। बाइबल इन सवालों के जवाब भी देती है:

  1. 1 परमेश्‍वर कौन है?

  2. 2 आप परमेश्‍वर के बारे में कैसे सीख सकते हैं?

  3. 3 बाइबल कैसे लिखवायी गयी?

  4. 4 क्या बाइबल में दी गयी बातें विज्ञान के मुताबिक सही हैं?

  5. 5 बाइबल का संदेश क्या है?

  6. 6 बाइबल में मसीहा के बारे में पहले से क्या बताया गया था?

  7. 7 बाइबल में हमारे दिनों के बारे में क्या बताया गया है?

  8. 8 क्या इंसान के दुखों के लिए परमेश्‍वर कसूरवार है?

  9. 9 इंसान पर दुख-तकलीफें क्यों आती हैं?

  10. 10 भविष्य के बारे में बाइबल क्या वादा करती है?

  11. 11 मरने पर क्या होता है?

  12. 12 मरे हुओं के बारे में हम क्या आशा रख सकते हैं?

  13. 13 काम के बारे में बाइबल क्या कहती है?

  14. 14 आप अपने साधनों का सही इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं?

  15. 15 आप खुशी कैसे पा सकते हैं?

  16. 16 आप चिंताओं का सामना कैसे कर सकते हैं?

  17. 17 बाइबल आपके परिवार की कैसे मदद कर सकती है?

  18. 18 आप परमेश्‍वर के दोस्त कैसे बन सकते हैं?

  19. 19 बाइबल की किताबों में क्या जानकारी दी गयी है?

  20. 20 आप बाइबल पढ़कर उससे पूरा फायदा कैसे पा सकते हैं?

बाइबल में आयतें कैसे ढूँढ़ें

बाइबल कुल 66 छोटी-छोटी किताबों से मिलकर बनी है। इसे दो भागों में बाँटा गया है: इब्रानी-अरामी शास्त्र (“पुराना नियम”) और यूनानी शास्त्र (“नया नियम”)। बाइबल की हर किताब को अध्यायों और आयतों में बाँटा गया है। जब बाइबल की आयतों का ज़िक्र किया जाता है तो पहले किताब का नाम, फिर अध्याय की संख्या और फिर आयतों की संख्या दी होती है। मिसाल के लिए, उत्पत्ति 1:1 का मतलब है, उत्पत्ति की किताब का पहला अध्याय और उसकी पहली आयत।