इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

ऑनलाइन बाइबल | पवित्र शास्त्र का नयी दुनिया अनुवाद

सपन्याह 2:1-15

सारांश

  • यहोवा के क्रोध के दिन से पहले उसकी खोज करो (1-3)

    • नेकी और दीनता की खोज करो (3)

    • ‘मुमकिन है तुम्हारी हिफाज़त की जाएगी’ (3)

  • आस-पास के राष्ट्रों को सज़ा (4-15)

2  हे बेशर्म राष्ट्र,+ अपने लोगों को इकट्ठा कर,हाँ, उन्हें इकट्ठा कर।+   इससे पहले कि फरमान लागू किया जाए,वह दिन ऐसे बीत जाए जैसे भूसी उड़ायी जाती है,इससे पहले कि यहोवा के क्रोध की आग तुम पर बरसे,+यहोवा के क्रोध का दिन तुम पर आए,   धरती के सब दीन* लोगो, यहोवा की खोज करो,+तुम जो उसके नेक आदेशों* का पालन करते हो। नेकी की खोज करो, दीनता* की खोज करो। मुमकिन है* यहोवा के क्रोध के दिन तुम्हारी हिफाज़त की जाएगी।*+   क्योंकि गाज़ा नगरी सुनसान हो जाएगीऔर अश्‍कलोन उजाड़ दी जाएगी।+ अशदोद को भरी दोपहरी में खदेड़ दिया जाएगाऔर एक्रोन जड़ से उखाड़ दी जाएगी।+   “उन लोगों का बहुत बुरा होगा जो समुंदर किनारे रहते हैं, जो करेती जाति के हैं!+ यहोवा ने तुम्हें सज़ा सुनायी है। हे पलिश्‍तियों के देश कनान, मैं तुझे नाश कर दूँगा,तेरे यहाँ एक भी निवासी नहीं बचेगा।   समुंदर किनारे का इलाका चरागाह बन जाएगा,जहाँ चरवाहों के लिए कुएँ और भेड़ों के लिए पत्थर के बाड़े होंगे।   वह इलाका यहूदा के घराने के बचे हुए लोगों का हो जाएगा,+वे वहाँ खाएँगे। अश्‍कलोन के घरों में वे शाम को लेटेंगे। क्योंकि उनका परमेश्‍वर यहोवा उन पर ध्यान देगा*और उनके लोगों को इकट्ठा करके बँधुआई से वापस लाएगा।”+   “मोआब ने मेरे लोगों को जिस तरह बदनाम किया है,+अम्मोनियों ने जिस तरह अपमान किया है वह मैंने सुना है,+उन्होंने मेरे लोगों पर ताने कसे और घमंड से भरकर उनका इलाका हड़पने की धमकी दी।”+   सेनाओं का परमेश्‍वर और इसराएल का परमेश्‍वर यहोवा ऐलान करता है,“इसलिए मैं अपने जीवन की शपथ खाकर कहता हूँ,मोआब सदोम जैसा हो जाएगा,+अम्मोनी लोग अमोरा जैसे हो जाएँगे,+उनका इलाका बिच्छू-बूटी और नमक का प्रदेश बन जाएगा और हमेशा के लिए उजाड़ पड़ा रहेगा।+ मेरी प्रजा के बचे हुए लोग उन्हें लूट लेंगे,मेरे राष्ट्र के बचे हुए लोग उन्हें वहाँ से भगा देंगे। 10  उन्हें घमंड करने+ का यही सिला मिलेगा,क्योंकि उन्होंने सेनाओं के परमेश्‍वर यहोवा के लोगों पर ताने कसे और उनसे खुद को ऊँचा उठाया था। 11  यहोवा उनके लिए खौफनाक साबित होगा,क्योंकि वह धरती के सभी देवताओं को बेकार कर देगा*और राष्ट्रों के सभी द्वीप उसे दंडवत* करेंगे,+अपनी-अपनी जगह से दंडवत करेंगे। 12  तुम इथियोपिया के लोग भी मेरी तलवार से मारे जाओगे।+ 13  वह अपना हाथ उत्तर की तरफ बढ़ाएगा और अश्‍शूर का नाश कर देगा,नीनवे को उजाड़ देगा,+ रेगिस्तान जैसा सूखा बना देगा। 14  वहाँ हर तरह के जंगली जानवरों* के झुंड रहा करेंगे। रात में हवासिल और साही उसके खंभों के कंगूरों पर बसेरा करेंगे। खिड़की से किसी के गाने की आवाज़ आएगी। दहलीज़ पर तबाही होगी, वह देवदार के तख्ते उखाड़ देगा। 15  यह वही घमंडी नगरी है जो महफूज़ बैठा करती थी,जो दिल में कहती थी, ‘मैं ही सबसे पहली हूँ, कोई मेरी बराबरी नहीं कर सकता।’ अब देखो, उसका ऐसा हश्र हुआ है कि देखनेवालों का दिल दहल जाता है,वह जंगली जानवरों का अड्डा बन गयी है! उसके पास से गुज़रनेवाला हर कोई मज़ाक उड़ाते हुए सीटी बजाएगा और मुट्ठी हिलाएगा।”+

कई फुटनोट

या “नम्र।”
शा., “उसके फैसलों।”
या “नम्रता।”
या “हो सकता है।”
या “तुम यहोवा के क्रोध के दिन छिपाए जाओगे।”
या “उनकी देखभाल करेगा।”
या “कमज़ोर कर देगा।”
या “उसकी उपासना।”
शा., “एक राष्ट्र के हर जानवर।”