इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

ऑनलाइन बाइबल | पवित्र शास्त्र का नयी दुनिया अनुवाद

भजन 136:1-26

सारांश

  • यहोवा का अटल प्यार सदा बना रहता है

    • आकाश और धरती की रचना बड़ी कुशलता से की गयी (5, 6)

    • फिरौन लाल सागर में मर गया (15)

    • निराश लोगों पर परमेश्‍वर का ध्यान (23)

    • हरेक जीव के लिए खाना (25)

136  यहोवा का शुक्रिया अदा करो क्योंकि वह भला है,+उसका अटल प्यार सदा बना रहता है।+   वह सब ईश्‍वरों से महान ईश्‍वर है,+ उसका शुक्रिया अदा करो,क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है।   वह सब प्रभुओं से महान प्रभु है, उसका शुक्रिया अदा करो,क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है।   वही अकेला बड़े-बड़े अजूबे करता है,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है।+   उसने बड़ी कुशलता* से आकाश की रचना की,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है।   उसने धरती को पानी के ऊपर फैलाया,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है।   उसने बड़ी-बड़ी ज्योतियाँ बनायीं,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है,   उसने दिन पर अधिकार रखने के लिए सूरज बनाया,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है,   रात पर अधिकार रखने के लिए चाँद-सितारे बनाए,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है। 10  उसने मिस्र के पहलौठों को मार डाला,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है। 11  वह इसराएल को उनके बीच से निकाल लाया,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है, 12  अपना शक्‍तिशाली हाथ बढ़ाकर उसे निकाल लाया,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है। 13  उसने लाल सागर को दो हिस्सों में बाँट दिया,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है। 14  उसने इसराएल को उसके बीच से पार कराया,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है। 15  उसने फिरौन और उसकी सेना को लाल सागर में झटक दिया,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है। 16  वह अपने लोगों को वीराने में रास्ता दिखाता ले गया,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है। 17  उसने बड़े-बड़े राजाओं को मार डाला,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है। 18  उसने ताकतवर राजाओं को मार डाला,क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है, 19  एमोरियों के राजा सीहोन को मार डाला,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है, 20  बाशान के राजा ओग को भी मार डाला,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है। 21  उसने उनका देश विरासत में दे दिया,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है, 22  अपने सेवक इसराएल को विरासत में दे दिया,क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है। 23  जब हम निराश थे तब उसने हम पर ध्यान दिया,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है।+ 24  वह हमें बैरियों से छुड़ाता रहा,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है। 25  वह हरेक जीव को खाना देता है,+क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है। 26  स्वर्ग के परमेश्‍वर का शुक्रिया अदा करो,क्योंकि उसका अटल प्यार सदा बना रहता है।

कई फुटनोट

या “समझ।”