इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

ऑनलाइन बाइबल | पवित्र शास्त्र का नयी दुनिया अनुवाद

भजन 103:1-22

सारांश

  • “मेरा मन यहोवा की तारीफ करे”

    • वह हमारे पापों को दूर फेंकता है (12)

    • पिता की तरह दया करता है (13)

    • याद रखता है कि हम मिट्टी ही हैं (14)

    • उसकी राजगद्दी; उसका राज (19)

    • स्वर्गदूत उसके वचन का पालन करते हैं (20)

दाविद की रचना। 103  मेरा मन यहोवा की तारीफ करे,मेरा रोम-रोम उसके पवित्र नाम की तारीफ करे।   मेरा मन यहोवा की तारीफ करे,उसके सारे काम मैं कभी नहीं भूलूँगा।+   वह मेरे सारे गुनाह माफ करता है,+मेरी सभी बीमारियाँ दूर करता है।+   वह मुझे गड्‌ढे* से निकालकर मेरी जान बचाता है,+मुझे अपने अटल प्यार और दया का ताज पहनाता है।+   वह ज़िंदगी-भर मुझे अच्छी चीज़ों से संतुष्ट करता है+ताकि मुझमें उकाब जैसी जवानी और दमखम बना रहे।+   सभी सताए हुओं की खातिरयहोवा नेक काम करता है, उन्हें न्याय दिलाता है।+   उसने मूसा को अपनी राहें बतायी थीं,+इसराएलियों पर अपने काम ज़ाहिर किए थे।+   यहोवा दयालु और करुणा से भरा है,+क्रोध करने में धीमा और अटल प्यार से भरपूर है।+   वह हमेशा खामियाँ नहीं ढूँढ़ता रहेगा,+न ही सदा नाराज़गी पाले रहेगा।+ 10  उसने हमारे पापों के मुताबिक हमारे साथ सलूक नहीं किया,+न ही हमारे गुनाहों के मुताबिक हमें सज़ा दी।+ 11  क्योंकि आकाश धरती से जितना ऊँचा है,उसका डर माननेवालों के लिए उसका अटल प्यार उतना ही महान है।+ 12  पूरब पश्‍चिम से जितना दूर है,उसने हमारे अपराधों को हमसे उतना ही दूर फेंक दिया है।+ 13  जैसे एक पिता अपने बच्चों पर दया करता है,वैसे ही यहोवा ने उन पर दया दिखायी है जो उसका डर मानते हैं।+ 14  क्योंकि वह हमारी रचना अच्छी तरह जानता है,+वह याद रखता है कि हम मिट्टी ही हैं।+ 15  जहाँ तक नश्‍वर इंसान की बात है,उसका वजूद घास की तरह है,+वह मैदान के फूल की तरह खिलता है।+ 16  मगर जब तेज़ हवा चलती है, तो वह नाश हो जाता है,मानो वह कभी था ही नहीं।* 17  लेकिन यहोवा का अटल प्यार युग-युग तक* बना रहता है,उनके लिए बना रहता है जो उसका डर मानते हैं,+उसकी नेकी उनके बच्चों के बच्चों के लिए सदा बनी रहेगी,+ 18  उनके लिए जो उसका करार मानते हैं+और जो उसके आदेश सख्ती से मानते हैं। 19  यहोवा ने स्वर्ग में अपनी राजगद्दी मज़बूती से कायम की है,+उसका राज हर चीज़ पर है।+ 20  सभी स्वर्गदूतो,+ तुम जो शक्‍तिशाली हो,उसकी आज्ञा मानकर उसके वचन का पालन करते हो,+यहोवा की तारीफ करो। 21  उसकी सारी सेनाओ,उसकी मरज़ी पूरी करनेवाले सेवको,+ यहोवा की तारीफ करो।+ 22  हे सारी सृष्टि,उसके राज्य के कोने-कोने में यहोवा की तारीफ कर। मेरा रोम-रोम यहोवा की तारीफ करे।

कई फुटनोट

या “कब्र।”
शा., “और उसकी जगह उसे और नहीं जानती।”
या “हमेशा से हमेशा तक।”