इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

ऑनलाइन बाइबल | पवित्र शास्त्र का नयी दुनिया अनुवाद

तीतुस के नाम चिट्ठी 2:1-15

सारांश

  • जवानों और बुज़ुर्गों के लिए अच्छी सलाह (1-15)

    • भक्‍तिहीन कामों को ठुकराओ (12)

    • बढ़िया कामों के लिए जोश (14)

2  मगर तू वही बातें बताता रह जो खरी* शिक्षा के मुताबिक हैं।+  बुज़ुर्ग आदमी हर बात में संयम बरतनेवाले हों, गंभीर हों, सही सोच रखते हों, उनका विश्‍वास मज़बूत हो, वे प्यार से भरपूर हों और धीरज धरनेवाले हों।  इसी तरह, बुज़ुर्ग औरतों का बरताव ऐसा हो जैसा पवित्र लोगों को शोभा देता है। वे बदनाम करनेवाली न हों, बहुत ज़्यादा दाख-मदिरा पीने की आदी न हों बल्कि अच्छी बातें सिखानेवाली हों  ताकि वे जवान औरतों को सलाह दें* कि वे अपने पति और बच्चों से प्यार करें,  सही सोच रखें, साफ चरित्र बनाए रखें। साथ ही वे अपने घर का काम-काज* करनेवाली, भली और अपने पति के अधीन रहनेवाली हों+ ताकि परमेश्‍वर के वचन की बदनामी न हो।  इसी तरह जवान भाइयों को बढ़ावा देता रह कि वे सही सोच रखें।+  और तू खुद भी सब बातों में बढ़िया काम करने की मिसाल रख। पूरी गंभीरता से ऐसी बातें सिखा जो शुद्ध हैं*+  और अच्छी* बातें बता जिनमें कोई दोष न निकाल सके+ ताकि हमारे विरोधी शर्मिंदा हों और उन्हें हमारे खिलाफ कुछ बुरा कहने का मौका न मिले।+  जो दास हैं वे सब बातों में अपने मालिकों के अधीन रहें,+ उन्हें खुश करें, पलटकर जवाब न दें, 10  उनका कुछ न चुराएँ+ बल्कि पूरी तरह भरोसेमंद रहें ताकि वे हर तरह से हमारे उद्धारकर्ता परमेश्‍वर की शिक्षा की शोभा बढ़ा सकें।+ 11  परमेश्‍वर की महा-कृपा ज़ाहिर की गयी है जो सब किस्म के लोगों को उद्धार दिलाती है।+ 12  यह हमें सिखाती है कि हम भक्‍तिहीन कामों और दुनियावी इच्छाओं को ठुकराएँ+ और इस दुनिया* में सही सोच रखते हुए और नेकी और परमेश्‍वर की भक्‍ति के साथ जीवन बिताएँ।+ 13  और उस वक्‍त का इंतज़ार करते रहें जब हमारी वह आशा पूरी होगी+ जो हमें खुशी देती है और महान परमेश्‍वर और हमारे उद्धारकर्ता मसीह यीशु की महिमा प्रकट होगी। 14  मसीह ने खुद को हमारे लिए दे दिया+ ताकि हमें हर तरह की बुराई से छुड़ाए*+ और शुद्ध करके हमें ऐसे लोग बना ले जो उसकी खास जागीर हों और बढ़िया कामों के लिए जोशीले हों।+ 15  तू उन्हें ये सारी बातें बताता रह, उन्हें समझाता* रह और पूरे अधिकार के साथ उनका सुधार करता रह।+ कोई भी तुझे नीचा न देखे।

कई फुटनोट

या “स्वास्थ्यकर; फायदेमंद।”
या “के होश ठिकाने लाएँ; सिखाएँ।”
या “घर की देखभाल।”
या शायद, “शुद्धता से सिखा।”
या “स्वास्थ्यकर; फायदेमंद।”
या “दुनिया की व्यवस्था।” शब्दावली देखें।
शा., “हमारे लिए फिरौती दे।”
या “उनका हौसला बढ़ाता।”