इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

ऑनलाइन बाइबल | पवित्र शास्त्र का नयी दुनिया अनुवाद

गिनती 8:1-26

सारांश

  • हारून ने सात दीए जलाए (1-4)

  • लेवी शुद्ध किए गए; उनकी सेवा शुरू (5-22)

  • लेवियों की सेवा के लिए तय उम्र (23-26)

8  यहोवा ने मूसा से कहा,  “हारून से कहना, ‘जब तू दीए जलाए तो सातों दीए इस तरह रखना कि दीवट के सामने की जगह में उजाला हो जाए।’”+  हारून ने ठीक वैसे ही किया जैसे यहोवा ने मूसा को आज्ञा दी थी। उसने दीए जलाकर उन्हें इस तरह रखा कि दीवट+ के सामने की पूरी जगह रौशनी से जगमगा उठी।  पूरी दीवट सोने को हथौड़े से पीटकर बनायी गयी थी। डंडी से लेकर फूलों तक, सबकुछ हथौड़े से पीटकर बनाया गया था।+ दीवट की बनावट बिलकुल उस नमूने जैसी थी जो यहोवा ने मूसा को दर्शन+ में दिखाया था।  यहोवा ने मूसा से यह भी कहा,  “इसराएलियों में से लेवियों को लेना और उन्हें शुद्ध करना।+  तू उन्हें इस तरह शुद्ध करना: तू उनके ऊपर पाप से शुद्ध करनेवाला पानी छिड़कना। और वे उस्तरे से अपने पूरे शरीर के बाल मुँड़वाएँ, अपने कपड़े धोएँ और नहा-धोकर खुद को शुद्ध करें।+  फिर वे एक बैल+ और उसके साथ अनाज के चढ़ावे+ के लिए तेल मिला मैदा लेंगे। इसके अलावा तू भी एक बैल लेगा जो पाप-बलि के लिए होगा।+  इसके बाद तू लेवियों को भेंट के तंबू के सामने लाना और इसराएलियों की पूरी मंडली को इकट्ठा करना।+ 10  जब तू लेवियों को यहोवा के सामने लाएगा तो इसराएलियों को उनके ऊपर अपने हाथ रखने चाहिए।+ 11  फिर हारून लेवियों को यहोवा के सामने अर्पित करेगा। यह इसराएलियों की तरफ से हिलाकर दिया जानेवाला चढ़ावा होगा।+ तब लेवी यहोवा की सेवा करेंगे।+ 12  फिर लेवी अपने हाथ बैलों के सिर पर रखेंगे+ और बैल यहोवा को अर्पित किए जाएँगे। एक पाप-बलि के लिए और दूसरा होम-बलि के लिए ताकि लेवियों की तरफ से प्रायश्‍चित किया जा सके।+ 13  तू लेवियों को हारून और उसके बेटों के सामने खड़ा करेगा और उन्हें हिलाकर दिए जानेवाले चढ़ावे के तौर पर यहोवा को अर्पित करेगा। 14  तू इसराएलियों में से लेवियों को अलग करना। वे मेरे हो जाएँगे।+ 15  उसके बाद लेवी भेंट के तंबू में सेवा करने के लिए आएँगे। इस तरह तू उन्हें शुद्ध करना और हिलाकर दिए जानेवाले चढ़ावे के तौर पर अर्पित करना। 16  वे दिए गए लोग हैं। इसराएलियों में से उन्हें मेरे लिए अर्पित किया गया है। इसराएलियों के सभी पहलौठे बेटों की जगह मैं लेवियों को अपने लिए लूँगा।+ 17  इसराएलियों का हर पहलौठा मेरा है, फिर चाहे वह इंसान का हो या जानवर का।+ जिस दिन मैंने मिस्र में सभी पहलौठों को मार डाला था, उसी दिन मैंने इसराएल के सब पहलौठों को पवित्र ठहरा दिया था कि वे मुझे दिए जाएँ।+ 18  मैं इसराएलियों के सब पहलौठे बेटों की जगह लेवियों को लूँगा। 19  मैं इसराएलियों में से लेवियों को चुनता हूँ और हारून और उसके बेटों को देता हूँ ताकि वे भेंट के तंबू में इसराएलियों की तरफ से सेवा करें+ और उनके लिए प्रायश्‍चित करने के काम में मदद दें। यह इसलिए है कि इसराएली पवित्र जगह के पास न आएँ और उन पर कोई कहर न टूट पड़े।”+ 20  मूसा, हारून और इसराएलियों की पूरी मंडली ने लेवियों के साथ ऐसा ही किया। यहोवा ने मूसा को लेवियों के साथ जो-जो करने की आज्ञा दी, वह सब इसराएलियों ने किया। 21  लेवियों ने खुद को शुद्ध किया और अपने कपड़े धोए।+ फिर हारून ने उन्हें यहोवा के सामने हिलाकर दिए जानेवाले चढ़ावे के तौर पर अर्पित किया।+ फिर हारून ने उन्हें शुद्ध करने के लिए उनकी तरफ से प्रायश्‍चित किया।+ 22  इसके बाद, लेवी भेंट के तंबू में जाकर हारून और उसके बेटों की निगरानी में सेवा करने लगे। यहोवा ने मूसा को लेवियों के बारे में जो आज्ञा दी थी, इसराएलियों ने उनके साथ ठीक वैसा ही किया। 23  यहोवा ने अब मूसा से कहा, 24  “लेवियों के लिए यह नियम है: जिस लेवी की उम्र 25 साल या उससे ज़्यादा है, वह भेंट के तंबू में काम करनेवाले सेवा-दल में शामिल होगा। 25  मगर जब वह 50 का हो जाता है तो वह सेवा-दल से निकल जाएगा। इसके बाद उसे तंबू में सेवा नहीं करनी चाहिए। 26  वह चाहे तो अपने उन भाइयों की मदद कर सकता है जो भेंट के तंबू में ज़िम्मेदारियाँ सँभालते हैं। मगर उसे तंबू में सेवा नहीं करनी चाहिए। तू लेवियों और उनकी ज़िम्मेदारियों के बारे में इस नियम का पालन करना।”+

कई फुटनोट