• 1

    • नमस्कार (1, 2)

    • कुलुस्सियों के विश्‍वास के लिए धन्यवाद (3-8)

    • विश्‍वास में मज़बूत होने के लिए प्रार्थना (9-12)

    • मसीह की खास ज़िम्मेदारी (13-23)

    • मंडली के लिए पौलुस की कड़ी मेहनत (24-29)

  • 2

    • परमेश्‍वर का पवित्र रहस्य, मसीह (1-5)

    • छलनेवालों से खबरदार (6-15)

    • हकीकत मसीह की है (16-23)

  • 3

    • पुरानी और नयी शख्सियत (1-17)

      • शरीर के अंगों को मार डालो (5)

      • प्यार, एकता में जोड़नेवाला जोड़ (14)

    • मसीही परिवारों के लिए सलाह (18-25)

  • 4

    • मालिकों को सलाह (1)

    • “प्रार्थना में लगे रहो” (2-4)

    • बाहरवालों के साथ बुद्धिमानी से पेश आओ (5, 6)

    • आखिर में नमस्कार (7-18)