इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

ऑनलाइन बाइबल | मसीही यूनानी शास्त्र पवित्र शास्त्र का नयी दुनिया अनुवाद देखिए

इब्रानियों 2:1-18

2  इसी वजह से, हमने जो बातें सुनी हैं, उन पर और भी ज़्यादा ध्यान देना ज़रूरी है, ताकि हम कभी-भी बहकर विश्‍वास से धीरे-धीरे दूर न चले जाएँ।  जो वचन स्वर्गदूतों के ज़रिए कहा गया था, अगर वह इतना अटल साबित हुआ और उस वचन के खिलाफ किए गए हर पाप की और आज्ञा तोड़ने की न्याय के मुताबिक सज़ा मिली,  तो हम उस उद्धार के बारे में, जो इतना महान है, लापरवाही बरतकर कैसे बच सकेंगे? यह उद्धार इसलिए महान है क्योंकि इसके बारे में सबसे पहले हमारे प्रभु ने बताया था। और फिर, इसके सच होने की बात को उन लोगों ने हमारे लिए पुख्ता किया जिन्होंने उससे सुना था।  साथ ही, परमेश्‍वर ने भी अपनी मरज़ी के मुताबिक, चमत्कारों, आश्‍चर्य के कामों और तरह-तरह के शक्‍तिशाली कामों के ज़रिए और पवित्र शक्‍ति के वरदान देकर इसकी गवाही दी है।  परमेश्‍वर ने आनेवाली उस दुनिया को, जिसके बारे में हम बता रहे हैं, स्वर्गदूतों के अधीन नहीं किया।  मगर किसी गवाह ने इस बात का सबूत देते हुए कहीं यह लिखा है: “इंसान क्या है कि तू उसके बारे में सोचे, या इंसान का बेटा क्या है कि तू उसकी परवाह करे?  तू ने उसे स्वर्गदूतों से कुछ कमतर बनाया। और उसे महिमा और आदर का ताज पहनाया और अपने हाथ की रचनाओं पर उसे अधिकार दिया।  तू ने सबकुछ उसके पाँवों तले कर दिया।” परमेश्‍वर ने सबकुछ उसके अधीन कर दिया और ऐसा कुछ भी न रख छोड़ा जो उसके अधीन न किया हो। हालाँकि अब तक हम सबकुछ उसके अधीन नहीं देखते,  मगर हम यीशु को देखते हैं जिसे स्वर्गदूतों से थोड़ा कमतर बनाया गया। और मौत सहने की वजह से उसे महिमा और आदर का ताज पहनाया गया, ताकि परमेश्‍वर की महा-कृपा से वह हर इंसान के लिए मौत का स्वाद चख सके। 10  सबकुछ परमेश्‍वर की खातिर और उसी के ज़रिए वजूद में है। इसलिए यह सही था कि वह बहुत सारे बेटों को महिमा में लाने के लिए, उनके उद्धार के खास नुमाइंदे को दुःख सहने के ज़रिए सिद्ध बनाए। 11  इसलिए कि पवित्र करनेवाला और जो पवित्र किए जा रहे हैं, सब एक ही पिता से हैं और इस वजह से वह उन्हें “भाई” पुकारने में शर्मिंदा महसूस नहीं करता, 12  जैसा वह कहता है: “मैं अपने भाइयों में तेरे नाम का ऐलान करूँगा और मंडली* के बीच मैं गीत गाकर तेरा गुणगान करूँगा।” 13  और फिर यह: “मैं उस पर भरोसा रखूँगा।” और यह भी: “देखो! मैं और ये बच्चे जिन्हें यहोवा* ने मुझे दिया है।” 14  इसलिए, जैसे “बच्चे” हाड़-माँस* के बने हैं, वह भी हाड़-माँस का बना, ताकि अपनी मौत के ज़रिए उसे यानी शैतान* को मिटा दे, जिसके पास मौत देने का ज़रिया है, 15  और उन सभी को आज़ाद करे जो मौत के डर से पूरी ज़िंदगी गुलामी में पड़े थे। 16  वह असल में स्वर्गदूतों की नहीं बल्कि अब्राहम के वंश की मदद कर रहा है। 17  इसी वजह से उसके लिए ज़रूरी था कि वह हर मायने में अपने “भाइयों” जैसा बने, ताकि वह परमेश्‍वर की सेवा से जुड़ी बातों में एक दयालु और विश्‍वासयोग्य महायाजक बन सके और लोगों के पापों के लिए प्रायश्‍चित्त का बलिदान चढ़ाए जिससे परमेश्‍वर के साथ उनकी सुलह हो। 18  क्योंकि उसने खुद उस वक्‍त जब उसकी परीक्षा ली जा रही थी, दुःख उठाया, इसलिए अब वह उनकी मदद करने के काबिल है जिनकी परीक्षा ली जा रही है।

कई फुटनोट

इब्रा 2:12 मत्ती 16:18 दूसरा फुटनोट देखें।
इब्रा 2:13 यह उन 237 जगहों में से एक जगह है, जहाँ परमेश्‍वर का नाम, ‘यहोवा’ इस अनुवाद के मुख्य पाठ में पाया जाता है। अतिरिक्‍त लेख 2 देखें।
इब्रा 2:14 शाब्दिक, “माँस और लहू।”
इब्रा 2:14 यूनानी में “दियाबोलोस,” जिसका मतलब है “निंदा करनेवाला।”