इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

प्रहरीदुर्ग  |  जुलाई 2015

क्या आप जानते थे?

क्या आप जानते थे?

क्या पुराने ज़माने की चीज़ों से पवित्र शास्त्र में दर्ज़ बातें सही साबित होती हैं?

यशायाह 20:1 में ज़िक्र किया गया अश्शूर का राजा, सर्गोन द्वितीय

पुराने ज़माने की चीज़ों के बारे में जानकारी छापनेवाली एक पत्रिका (बिब्लिकल आर्कियॉलजी रिव्यू) के एक लेख में बताया गया था कि ऐसी कुछ चीज़ें मिली हैं, जिनसे यह साबित हो गया है कि इब्रानी शास्त्र में दर्ज़ “कम-से-कम 50” लोग वाकई जीए थे। इस सूची में यहूदा और इसराएल के 14 राजाओं का नाम हैं, जिनमें राजा दाविद और राजा हिज़किय्याह जैसी बड़ी हस्तियाँ भी हैं और कुछ ऐसे राजा भी हैं, जो ज़्यादा मशहूर नहीं थे। इसके अलावा, इस सूची में मिस्र के 5 राजाओं और अश्शूर, बैबिलोनिया, मोआब, फारस और सीरिया के 19 राजाओं के भी नाम हैं। लेकिन पुरातत्वविज्ञानियों को सिर्फ बाइबल में दर्ज़ राजाओं के वजूद में होने का ही सबूत नहीं मिला, बल्कि उन्हें महायाजकों, मंत्रियों और दूसरे कुछ अधिकारियों के वजूद में होने का भी सबूत मिला है।

इस लेख में बताया गया है कि इन 50 लोगों की पहचान एक या दो विद्वानों ने नहीं, बल्कि बहुत-से विद्वानों ने की है। बेशक, मसीही यूनानी शास्त्र में भी पुराने ज़माने की कई हस्तियों का ज़िक्र किया गया है और पुरातत्वविज्ञानियों को उनमें से कई लोगों के वजूद में होने का सबूत मिला है। इनमें से कुछ हैं, हेरोदेस, पुन्तियुस पीलातुस, तिबिरियुस, कैफा और सिरगियुस पौलुस। ▪ (w15-E 05/01)

पवित्र शास्त्र में बताए गए देशों में शेर कब से खत्म होने लगे?

पुराने ज़माने के बैबिलोन में चमकदार ईंटों से बनाया गया चित्र

इसराएल, पैलिस्टाइन, जॉर्डन, मिस्र और सीरिया देशों के जंगलों में आज शेर नहीं पाए जाते हैं। लेकिन पवित्र शास्त्र बाइबल में करीब 150 बार शेरों का ज़िक्र आया है, जिससे पता चलता है कि बाइबल के लेखक शेरों के बारे में जानते थे। पवित्र शास्त्र में जहाँ-जहाँ शेरों का ज़िक्र किया गया है, उनमें से ज़्यादातर बार वे किसी चीज़ को दर्शाते हैं। लेकिन कुछ लेखकों ने ऐसे कई किस्सों के बारे में लिखा है, जब लोगों का सचमुच शेरों से सामना हुआ। मिसाल के लिए, शिमशोन, दाविद और बनायाह नाम के लोगों ने शेरों को मारा था। (न्यायियों 14:5, 6; 1 शमूएल 17:34, 35; 2 शमूएल 23:20) तो दूसरे ऐसे थे, जो शेर का शिकार बन गए।—1 राजा 13:24; 2 राजा 17:25.

पुराने ज़माने में, एशिया माइनर और ग्रीस से लेकर पैलिस्टाइन, सीरिया, मेसोपोटामिया और उत्तर-पश्‍चिमी भारत तक एशियाई शेर पाए जाते थे। लोग शेरों से थर-थर काँपते थे और उनका बहुत मान करते थे। कुछ लोग अपने घर की दीवारों पर शेरों के चित्र बनाते थे। बैबिलोन में जिस रास्ते से जुलूस गुज़रता था, उसके दोनों तरफ बनी दीवारों पर चमकती हुई ईंटों से शेरों के शानदार चित्र बने हुए थे।

बारहवीं सदी के खत्म होते-होते धर्म-युद्ध लड़नेवालों ने पैलिस्टाइन में शेरों का शिकार करना शुरू कर दिया था। ऐसा मालूम पड़ता है कि 12वीं सदी के बाद उस इलाके में शेर खत्म होने लगे। लेकिन मेसोपोटामिया और सीरिया में 19वीं सदी तक और ईरान और ईराक में 20वीं सदी की शुरूआत तक शेर पाए जाते थे। ▪ (w15-E 05/01)