इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

प्रहरीदुर्ग—अध्ययन संस्करण  |  फरवरी 2015

प्रचार के लिए अपना जोश बरकरार रखिए

प्रचार के लिए अपना जोश बरकरार रखिए

आज दुनिया में जो सबसे ज़रूरी काम हो रहा है, वह है प्रचार काम। यहोवा का एक सेवक होने के नाते, आप चेला बनाने के इस काम को ज़रूर एक सम्मान की बात समझते होंगे। लेकिन आप बेशक इस बात से भी सहमत होंगे कि कभी-कभी पायनियरों और प्रचारकों के लिए प्रचार काम में अपना जोश बनाए रखना मुश्किल हो जाता है।

प्रचार काम के लिए अपना जोश बरकरार रखने में क्या बात आपकी मदद कर सकती है?

कुछ प्रचारकों ने पाया है कि घर-घर प्रचार करते वक्‍त उन्हें कई लोग घर पर नहीं मिलते, जिस वजह से उनकी बहुत कम लोगों से बात हो पाती है। और जब लोग घर पर होते भी हैं, तो वे खुशखबरी में दिलचस्पी नहीं दिखाते, और कभी-कभी तो हम पर गुस्सा भी हो जाते हैं। दूसरे प्रचारक ऐसी जगहों पर रहते हैं, जहाँ प्रचार का इलाका काफी बड़ा है और लोग भी खुशखबरी में बहुत दिलचस्पी लेते हैं, लेकिन उन्हें इस बात की चिंता लगी रहती है कि वे कभी प्रचार का वह इलाका पूरा नहीं कर पाएँगे। फिर कई ऐसे भी हैं, जो सालों से प्रचार कर रहे हैं, मगर वे निराश हो गए हैं क्योंकि अंत अभी तक नहीं आया है।

हमारे प्रचार काम में ऐसी चुनौतियाँ ज़रूर आएँगी, जो हमारे जोश को ठंडा कर सकती हैं। हम एक ऐसी दुनिया में जी रहे हैं, जो शैतान इब्लीस के कब्ज़े में है, इसलिए हम उम्मीद कर सकते हैं कि हमारे लिए खुशखबरी का प्रचार करना मुश्किल होगा।—1 यूह. 5:19.

आप अपने प्रचार काम में निजी तौर पर चाहे किसी भी चुनौती का सामना करें, आप इस बात का यकीन रख सकते हैं कि यहोवा आपको उनसे निकलने में मदद ज़रूर देगा। लेकिन आप प्रचार में अपना जोश बढ़ाने के लिए क्या कर सकते हैं? आइए कुछ सुझावों पर चर्चा करें?

नए प्रचारकों की मदद कीजिए

हर साल, हज़ारों लोग बपतिस्मा लेकर यहोवा के साक्षी बनते हैं। अगर आपने हाल ही में बपतिस्मा लिया है, तो आप उन प्रचारकों से बहुत कुछ सीख सकते हैं, जो सालों से प्रचार काम में लगे हुए हैं। और अगर आप कई सालों से प्रचार काम कर रहे हैं, तो क्या आप नए प्रचारकों को तालीम दे सकते हैं। ऐसा करने से आपको बहुत संतुष्टि मिलेगी।

 यीशु जानता था कि उसके चेलों को असरदार शिक्षक बनने के लिए मार्गदर्शन की ज़रूरत है और उसने उन्हें दिखाया कि प्रचार कैसे करना है। (लूका 8:1) आज भी, नए लोगों को असरदार प्रचारक बनने के लिए वैसी ही तालीम की ज़रूरत है।

हमें ऐसा नहीं सोचना चाहिए कि प्रचार में जाने से एक नया प्रचारक सिखाने का काम खुद-ब-खुद सीख जाएगा। उसे निजी तौर पर तालीम की ज़रूरत है, वह भी ऐसे प्रचारक से जो उसे प्यार से सिखा सके। एक अनुभवी प्रचारक नए प्रचारक को तालीम दे सकता है कि वह (1) घर मालिक को कही जानेवाली बातों की तैयारी और प्रैक्टिस कैसे कर सकता है, (2) लोगों से बात कैसे कर सकता है, (3) साहित्य कैसे पेश कर सकता है, (4) दिलचस्पी दिखानेवालों को वापसी भेंट कैसे कर सकता है, और (5) बाइबल अध्ययन कैसे शुरू कर सकता है। अगर एक नया प्रचारक अनुभवी प्रचारक के सिखाने के तरीके को ध्यान से देखे और वैसा करने की कोशिश भी करे, तो वह भी एक असरदार प्रचारक बन सकता है। (लूका 6:40) अगर एक अनुभवी प्रचारक नए प्रचारक के साथ प्रचार में जाए और ज़रूरत पड़ने पर उसकी मदद करे, तो बेशक नए प्रचारक का बहुत हौसला बढ़ेगा। साथ ही, सच्चे दिल से की गयी तारीफ से और मददगार सुझावों से भी नए प्रचारक को काफी मदद मिलेगी।—सभो. 4:9, 10.

प्रचार में अपने साथी से बात कीजिए

घर-मालिक के साथ चर्चा करने के लिए आप चाहे कितनी भी मेहनत कर लें, कभी-कभी ऐसा भी होगा कि प्रचार में आपकी अच्छी बातचीत घर-मालिक के साथ नहीं, मगर आपके साथ काम कर रहे आपके साथी के साथ होगी। याद कीजिए कि प्रचार में यीशु ने अपने चेलों को “दो-दो की जोड़ियों में” भेजा था। (लूका 10:1) जब उन्होंने एक-साथ काम किया, तो वे एक-दूसरे का हौसला बढ़ा सके। जब हम अपने भाई-बहनों के साथ प्रचार में जाते हैं, तो हमें भी बेहतरीन मौका मिलता है कि हम “आपस में एक-दूसरे का हौसला बढ़ा सकें।”—रोमि. 1:12.

आप किस बारे में बात कर सकते हैं? क्या हाल ही में आपमें से किसी को कोई हौसला बढ़ानेवाला अनुभव हासिल हुआ है? क्या आपने अपने निजी या पारिवारिक अध्ययन में कोई दिलचस्प बात सीखी है? क्या सभा में आपको किसी बात से हौसला मिला? कभी-कभी आप एक ऐसे प्रचारक के साथ काम करते हैं, जिसे आप अच्छे से नहीं जानते। शायद आप उससे पूछ सकते हैं कि वह सच्चाई में कैसे आया। किस बात ने उसे भरोसा दिलाया कि यहोवा का संगठन यही है? उसे क्या सम्मान या अनुभव मिले? या फिर आप उन्हें अपने ही कुछ अनुभव सुना सकते हैं। प्रचार में लोग चाहे कैसा भी रवैया क्यों न दिखाएँ, जब आप किसी के साथ प्रचार में काम करते हैं, तो आपको “एक-दूसरे की हिम्मत बंधाते” रहने का अच्छा मौका मिलता है।—1 थिस्स. 5:11.

अपने निजी अध्ययन में निखार लाइए

प्रचार में अपना जोश बनाए रखने के लिए हमें अपने निजी अध्ययन में निखार लाने की ज़रूरत है। “विश्वासयोग्य और  सूझ-बूझ से काम लेनेवाला दास” कई अलग-अलग विषयों पर जानकारी मुहैया कराता है, जिन पर हम अध्ययन कर सकते हैं। (मत्ती 24:45) आइए एक विषय पर चर्चा करें, जो निजी अध्ययन के लिए बढ़िया विषय है: प्रचार काम क्यों इतना ज़रूरी है? बक्स “प्रचार काम के लिए अपना जोश क्यों बरकरार रखें?” इसकी कुछ वजह बताता है।

बक्स में दी वजहों को जाँचने से आपको जोश के साथ प्रचार करते रहने में मदद मिलेगी। इस विषय पर बाइबल से और भी अध्ययन कीजिए और जोश के साथ प्रचार करने की और भी वजह ढूँढ़िए। फिर उन वजहों पर मनन कीजिए। जब आप ऐसा करेंगे, तो प्रचार के लिए आपका जोश और भी बढ़ेगा।

नए तरीके आज़माने के लिए तैयार रहिए

यहोवा का संगठन लगातार हमें अपने प्रचार काम को सुधारने के लिए अलग-अलग तरीके बताता रहता है। जैसे घर-घर प्रचार करने के अलावा, हम खत के ज़रिए, फोन के ज़रिए, सड़क पर, मौके ढूँढ़कर, काम की जगहों पर, या सरेआम गवाही देने में हिस्सा ले सकते हैं। हम शायद ऐसे इलाकों में प्रचार करने की भी योजना बना सकते हैं, जहाँ प्रचारक बहुत कम हैं या बिलकुल भी नहीं हैं।

क्या आप नए तरीके आज़माने के लिए तैयार रहते हैं? कई भाई-बहन जिन्होंने इन तरीकों को आज़माया है, वे कामयाब रहे हैं। तीन उदाहरणों पर गौर कीजिए।

एप्रील नाम की एक बहन ने राज-सेवा में प्रकाशित एक लेख में दी सलाह को आज़माने का फैसला किया, जो इस बारे में था कि बाइबल अध्ययन कैसे शुरू करें। उसने अपने साथ काम करनेवाले 3 लोगों के सामने बाइबल अध्ययन की पेशकश रखी। एप्रील यह देखकर हैरान रह गयी कि उन तीनों ने बाइबल अध्ययन कबूल किया, यहाँ तक कि वे सभाओं में भी आने लगीं।

हमें यह भी बढ़ावा दिया जाता है कि हम ऐसे लोगों की तलाश में रहें, जो हमारी पत्रिकाओं में दिए जानेवाले कुछ खास  विषय को पढ़ना पसंद करते हैं। अमरीका के एक सर्किट निगरान ने यही तरीका आज़माया। सजग होइए! में एक लेख आया था, जो टायरों के बारे में था। सर्किट निगरान ने फैसला किया कि वह यह पत्रिका एक इलाके की सभी टायर की दुकानों के मैनेजरों को देगा। इसके अलावा, उसने और उसकी पत्नी ने “अपने डॉक्टर को समझना” (अँग्रेज़ी) इस श्रृंखला लेख पर आधारित सजग होइए! पत्रिका 100 से भी ज़्यादा डॉक्टरों के दफ्तरों में जाकर बाँटी। वह बताता है कि इन मुलाकातों की वजह से लोग हमारे प्रचार काम और हमारे साहित्यों से वाकिफ हो पाए हैं। अपने इलाके के लोगों को अच्छी तरह जानने की वजह से, यह सर्किट निगरान और उसकी पत्नी कई वापसी भेंट कर पाए हैं।

जूडी नाम की एक बहन ने विश्व मुख्यालय को एक खत लिखा, जिसमें उसने बताया कि वह फोन के ज़रिए गवाही देने के सुझाव के लिए बहुत शुक्रगुज़ार है। उसने लिखा कि उसकी माँ, जो 86 साल की है और सेहत से जुड़ी कई तकलीफों से जूझ रही है, लगातार फोन पर लोगों को गवाही देती रहती है। नतीजा, उसने एक 92 साल की स्त्री के साथ बाइबल अध्ययन करना शुरू किया!

हमारे साहित्यों में दिए जानेवाले सुझाव वाकई बहुत कारगर हैं। उनका इस्तेमाल करके देखिए! इनसे आपको प्रचार में अपनी खुशी और अपना जोश बनाए रखने में मदद मिल सकती है।

ऐसे लक्ष्य रखिए जिन्हें आप हासिल कर सकें

क्या बात हमें अपने प्रचार काम में कामयाब बनाती है? प्रचार में हमारी कामयाबी इन बातों से नहीं आँकी जाती कि हम कितने साहित्य देते हैं, कितने बाइबल अध्ययन चलाते हैं या हम कितने लोगों को सच्चाई में लेकर आए हैं। नूह के बारे में सोचिए। अपने परिवार को छोड़ वह और कितने लोगों को यहोवा का उपासक बनने में मदद दे पाया? फिर भी, वह एक कामयाब प्रचारक था। जो बात हमें प्रचार काम में कामयाब बनाती है, वह यह कि हम वफादारी से यहोवा की सेवा करते रहें।—1 कुरिं. 4:2.

बहुत-से प्रचारकों ने पाया है कि प्रचार काम के लिए अपना जोश बरकरार रखने के लिए ज़रूरी है कि वे ऐसे लक्ष्य रखें, जिन्हें वे हासिल कर सकते हैं। ऐसे कुछ लक्ष्य क्या हैं? “ऐसे लक्ष्य रखिए जिन्हें आप हासिल कर सकें” बक्स में कुछ सुझाव दिए गए हैं।

यहोवा से मदद माँगिए कि वह आपको प्रचार में कामयाब होने और अच्छे नतीजे पाने में मदद दे। जब आप अपने लक्ष्यों को हासिल कर लेंगे, तो आपको इस बात की संतुष्टि होगी कि आप खुशखबरी सुनाने के लिए अपनी तरफ से जो कर सकते हैं, वह आप कर रहे हैं।

यह सच है कि खुशखबरी का प्रचार करना एक चुनौती हो सकती है। लेकिन प्रचार में अपना जोश बनाए रखने के लिए आप कुछ कदम भी उठा सकते हैं। प्रचार में अपने साथी से हौसला बढ़ानेवाली बातें कीजिए, अपने निजी अध्ययन का एक अच्छा शेड्यूल बनाइए और उसमें निखार लाइए, विश्वासयोग्य और सूझ-बूझ से काम लेनेवाले दास से मिलनेवाले सुझावों को आज़माने की कोशिश कीजिए और ऐसे लक्ष्य रखिए जिन्हें आप हासिल कर सकें। सबसे ज़रूरी बात, हमेशा याद रखिए कि यहोवा परमेश्वर ने आपको उसके साक्षी के तौर पर खुशखबरी सुनाने का अनोखा सम्मान दिया है। (यशा. 43:10) जी हाँ, अगर आप प्रचार में अपना जोश बरकरार रखेंगे, तो आपको सच में बहुत खुशी मिलेगी!