इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

प्रहरीदुर्ग—अध्ययन संस्करण नवंबर 2014

इस अंक में 29 दिसंबर, 2014 से 1 फरवरी, 2015 के अध्ययन लेख दिए गए हैं।

यीशु का पुनरुत्थान हमारे लिए क्या मायने रखता है

यीशु का पुनरुत्थान हो चुका है इस पर यकीन करने की चार वजह हैं। यीशु आज ज़िंदा है, इस बात पर हमारे विश्वास का हम पर क्या असर होना चाहिए?

हमें पवित्र क्यों होना चाहिए

क्या आप कभी बाइबल की लैव्यव्यवस्था की किताब पढ़कर उलझन में पड़ गए हैं या उकता गए हैं? लैव्यव्यवस्था की किताब में पाए जानेवाले अनमोल खज़ाने आपको परमेश्वर की उपासना में पवित्र बने रहने में मदद दे सकते हैं।

हमें अपने सारे चालचलन में पवित्र होना चाहिए

समझौता करने से दूर रहने, यहोवा को अपना उत्तम देने और ठोस आध्यात्मिक आहार लेने में क्या समानता है?

‘वे लोग जिनका परमेश्वर यहोवा है’

क्या परमेश्वर उन सभी लोगों की भक्‍ति कबूल करता है, जो सच्चे दिल से उसकी उपासना करते हैं, फिर चाहे उनका धर्म जो भी हो?

‘अब तुम परमेश्वर के लोग हो’

हम ‘परमेश्वर के लोग’ कैसे बन सकते हैं और बने रह सकते हैं?

आपने पूछा

मंडलियों में प्राचीन और सहायक सेवक कैसे नियुक्‍त किए जाते हैं? प्रकाशितवाक्य अध्याय 11 में बताए गए दो गवाह कौन हैं?

अतीत के झरोखे से

उगते सूरज के देश में सच्चाई की रोशनी चमकी

खास प्रचार काम के लिए बनायी गयी “येहू” गाड़ियों ने जापान में राज के काम को आगे बढ़ाने में मदद दी।