इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

सजग होइए‍!  |  अक्टूबर 2015

 दुनिया पर एक नज़र

मध्य-पूर्वी देश

मध्य-पूर्वी देश

दुनिया की बहुत-ही पुरानी सभ्यताओं की शुरूआत मध्य-पूर्वी देशों में हुई है। यहाँ पुराने ज़माने की कई चीज़ें पायी गयी हैं।

कनान की दाख-मदिरा

सन्‌ 2013 में खोज करनेवालों ने इसराएल देश के एक इलाके में खुदाई की, जहाँ एक वक्‍त पर कनान देश का एक शहर हुआ करता था। वहाँ उन्हें एक बहुत बड़ा कमरा मिला, जो करीब 3,700 साल पुराना था। उसमें उन्हें 40 बड़े-बड़े मटके मिले। इनमें एक ज़माने में इतनी दाख-मदिरा रखी गयी थी जितनी आज के ज़माने में 3,000 बोतलों में रखी जा सकती है। एक खोज करनेवाले ने मटके में मिली सूखी शराब की जाँच की और कहा कि ऐसा मालूम होता है कि कनान देश के लोग बहुत ध्यान से दाख-मदिरा बनाते थे, क्योंकि हरेक मटके में बिलकुल एक जैसी दाख-मदिरा थी।

क्या आपको पता था? पवित्र शास्त्र में बताया है कि पुराने ज़माने में इसराएल में सबसे “उत्तम दाखमधु” बनायी जाती थी और फिर उसे बड़े-बड़े मटकों में रखा जाता था।—श्रेष्ठगीत 7:9; यिर्मयाह 13:12.

बढ़ती आबादी

गार्डियन नाम के अखबार में बताया गया था कि मिस्र देश में 2012 में 2010 के मुकाबले 5,60,000 से भी ज़्यादा बच्चे पैदा हुए। मिस्र की एक अध्ययन करनेवाली कंपनी के निर्देशक, मैगड ऑस्मान कहते हैं “मिस्र के इतिहास में ऐसा पहले कभी नहीं हुआ।” कुछ जानकार कहते हैं कि अगर आबादी इसी तरह बढ़ती रही तो इस देश में पानी, ऊर्जा और खाने की और भी ज़्यादा कमी हो जाएगी।

क्या आपको पता था? पवित्र शास्त्र में बताया है कि ईश्वर चाहता है कि धरती इंसानों से आबाद रहे, लेकिन एक सीमा तक, ताकि किसी को किसी भी चीज़ की कमी न हो।—उत्पत्ति 1:28; भजन 72:16.

छिपाए गए सिक्के मिले

इसराएल देश में एक हाईवे के पास 100 से भी ज़्यादा काँसे के सिक्के मिले, जिन पर “चौथा साल” खुदा हुआ था। यह रोमी सरकार के खिलाफ यहूदियों की बगावत के चौथे साल की तरफ इशारा करता है, यानी ईसवी सन्‌ 69 से 70 तक। इसी बगावत की वजह से यरूशलेम का नाश हुआ था। खुदाई करनेवालों के निर्देशक, पोबलो बेटसेर ने कहा “ऐसा मालूम होता है कि उस वक्‍त शायद किसी को लगा कि यहाँ सब तबाह होनेवाला है, क्योंकि वह रोमी सेना को आगे बढ़ते हुए देख सकता था। उसने अपने सिक्के छिपा दिए और सोचा कि बाद में वह उन्हें वहाँ से निकाल लेगा।”

क्या आपको पता था? इस बगावत से सालों पहले, ईसवी सन्‌ 33 में यीशु ने बताया था कि रोमी सेना यरूशलेम पर चढ़ाई करेगी। उसने अपने शिष्यों से कहा था कि वे अपनी जान बचाने के लिए पहाड़ों की तरफ भाग जाएँ।—लूका 21:20-24. (g15-E 09)