इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

सजग होइए‍!  |  अंक 3 2016

 पहले पेज का विषय | कैसे डालें अच्छी आदतें

1 सोचिए, फिर कीजिए

1 सोचिए, फिर कीजिए

कई बार शायद हमारा मन करे कि हम अपनी ज़िंदगी में बहुत कुछ बदल दें और वह भी सब एक साथ। जैसे आप शायद सोचें, ‘इस हफ्ते से मैं सिगरेट पीना, गाली-गलौज करना और देर रात तक जागना छोड़ दूँगा और अब से कसरत करूँगा, पौष्टिक खाना खाऊँगा और अपने दादा-दादी से उनका हाल-चाल भी लूँगा।’ लेकिन अगर आप एक ही साथ सबकुछ करने की सोचें, तो आप कुछ भी नहीं कर पाएँगे!

पवित्र शास्त्र की सलाह: “नम्र लोगों में बुद्धि होती है।”नीतिवचन 11:2.

जैसे शास्त्र में कहा गया है कि नम्र व्यक्ति को पता होता है कि वह सबकुछ नहीं कर सकता। वह जानता है कि वह उतना ही कर सकता है, जितना उसके पास समय, ताकत और साधन हैं। इसलिए एक ही साथ सबकुछ बदलने के बजाय, वह धीरे-धीरे अपनी आदतें बदलता है।

अगर आप एक ही साथ सबकुछ करने की सोचें, तो आप कुछ भी नहीं कर पाएँगे!

आप क्या कर सकते हैं?

धीरे-धीरे खुद में बदलाव लाइए। इसके लिए आप आगे दिए कदम उठा सकते हैं:

  1. दो सूची बनाइए। एक में अच्छी आदतें लिखिए, जो आप खुद में डालना चाहते हैं और दूसरी में बुरी आदतें, जो आप छोड़ना चाहते हैं। आप जितनी आदतों के बारे में सोच सकते हैं, वे सब लिखिए। यह मत सोचिए कि सूची बहुत लंबी हो गयी है, इसलिए अब बस और न लिखूँ।

  2. जिन आदतों को आप सबसे पहले छोड़ना चाहते हैं या खुद में डालना चाहते हैं, उन पर 1, 2, 3 के हिसाब से निशान लगाइए।

  3. अब दोनों सूची में से पहली एक या दो बातें चुनिए और उन पर ध्यान दीजिए। उसके बाद सूची में से अगली एक या दो बातों पर ध्यान दीजिए।

अगर आप एक बुरी आदत को छोड़ उसकी जगह एक अच्छी आदत अपनाएँ, तो आपने जो सूची बनायी है, वह जल्द ही कम हो जाएगी। मान लीजिए कि आपमें बहुत ज़्यादा टीवी देखने की आदत है और आप एक अच्छी आदत शुरू करना चाहते हैं जैसे अपने दोस्तों या रिश्तेदारों से समय-समय पर बातचीत करना। इसके लिए आप कुछ ऐसा कर सकते हैं कि जब आप काम पर से छूटकर घर जाएँ, तो जाते ही टीवी चलाने के बजाय सबसे पहले किसी एक दोस्त या रिश्तेदार से बात करें।