इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

प्रहरीदुर्ग अंक 1 2017 | बाइबल पढ़ना फायदेमंद और मज़ेदार कैसे बनाएँ?

क्या आपने कभी इस बारे में सोचा है?

क्या आज के इस आधुनिक ज़माने में बाइबल की सलाह पुरानी पड़ गयी है या आज भी हमें इससे फायदा हो सकता है? बाइबल में लिखा है: “पूरा शास्त्र परमेश्वर की प्रेरणा से लिखा गया है और . . . फायदेमंद है।”2 तीमुथियुस 3:16, 17.

प्रहरीदुर्ग के इस अंक में बताया गया है कि बाइबल में दी सलाह कैसे फायदेमंद है और कुछ सुझाव दिए गए हैं जिनसे हम बाइबल को पढ़ना और मज़ेदार बना सकते हैं।

 

पहले पेज का विषय

बाइबल क्यों पढ़ें?

बाइबल पढ़ने से कैसे लाखों लोगों को फायदा हुआ है?

पहले पेज का विषय

बाइबल पढ़ना कैसे शुरू करें?

पाँच सुझाव जिनसे बाइबल पढ़ना आसान और मज़ेदार हो सकता है।

पहले पेज का विषय

बाइबल पढ़ना मज़ेदार कैसे बनाएँ?

बाइबल के सही अनुवाद, तकनीक, बाइबल पर आधारित किताबों-पत्रिकाओं और पढ़ने के अलग-अलग तरीकों से बाइबल पढ़ना मज़ेदार हो सकता है।

पहले पेज का विषय

बाइबल पढ़ने से ज़िंदगी कैसे सँवर जाती है?

इस प्राचीन किताब में इस बारे में बहुत ही बढ़िया सलाह दी गयी है।

पवित्र शास्त्र सँवारे ज़िंदगी

मैं मरना नहीं चाहती थी!

एक बार ईवॉन क्वॉरी ने खुद से पूछा, ‘मुझे क्यों बनाया गया है?’ इस सवाल के जवाब से उसकी ज़िंदगी बदल गयी।

उनके विश्‍वास की मिसाल पर चलिए

“उसने परमेश्वर को खुश किया”

अगर आप पर परिवार की देखभाल करने की ज़िम्मेदारी है या आपको अकेले ही सच का साथ देना पड़ रहा है, तो आप हनोक के विश्वास की मिसाल से बहुत कुछ सीख सकते हैं।

कहीं आप गलत तो नहीं समझ रहे?

बाइबल का संदेश सही-सही समझना बहुत ज़रूरी है। हम इसे कैसे समझ सकते हैं?

क्या आपने कभी सोचा है?

पवित्र शास्त्र में न सिर्फ दुख-तकलीफों की वजह बतायी गयी है, बल्कि यह भी कि कैसे इनका अंत होगा।

और जानकारी देखिए

क्या बाइबल में लिखी बातें आपस में मेल नहीं खातीं?

बाइबल में लिखी कुछ बातों की जाँच कीजिए, जिन्हें पढ़ने पर ऐसा लगता है कि वे आपस में मेल नहीं खातीं। कुछ सिद्धांतों पर भी ध्यान दीजिए, जिनसे आप उन बातों का सही मतलब समझ सकते हैं।