इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

प्रहरीदुर्ग  |  अंक 1 2016

 पहले पेज का विषय | क्या प्रार्थना करने का कोई फायदा है?

लोग प्रार्थना क्यों करते हैं?

लोग प्रार्थना क्यों करते हैं?

“मैं बहुत ज़्यादा जुआ खेलता था। मैं बड़ी रकम जीतने के लिए प्रार्थना करता था, लेकिन ऐसा कभी नहीं हुआ।”—केन्या का रहनेवाला सैम्यूल। *

“स्कूल में हम रटी-रटायी प्रार्थनाएँ दोहराते थे।”—फिलिपाईन्स की रहनेवाली टेरीसा।

“मैं मुश्किलों का सामना करने के लिए, गलतियों की माफी माँगने के लिए और एक अच्छा इंसान बनने के लिए प्रार्थना करती हूँ।”—घाना की रहनेवाली मोनिका।

सैम्यूल, टेरीसा और मोनिका ने जो कहा उससे पता चलता है कि लोग अलग-अलग वजह से प्रार्थना करते हैं। कुछ लोगों के इरादे नेक होते हैं, तो कुछ के नहीं। कुछ लोग दिल से प्रार्थना करते हैं, तो कुछ लोग बस नाम के लिए प्रार्थना करते हैं। चाहे लोग परीक्षा में पास होने के लिए प्रार्थना करें या अपनी मनपसंद टीम को जिताने के लिए, चाहे वे अपनी पारिवारिक ज़िंदगी में ऊपरवाले के मार्गदर्शन के लिए प्रार्थना करें या फिर किसी और वजह से, एक बात तो पक्की है कि आज करोड़ों लोग प्रार्थना करते हैं। यहाँ तक कि आँकड़े बताते हैं कि जो लोग किसी धर्म से नहीं जुड़े हैं, वे भी समय-समय पर प्रार्थना करते हैं।

क्या आप प्रार्थना करते हैं? अगर हाँ, तो आप किस बात के लिए प्रार्थना करते हैं? चाहे आपकी प्रार्थना करने की आदत हो या नहीं, कभी-न-कभी आपके मन में ये सवाल ज़रूर आए होंगे, ‘क्या प्रार्थना करने का कोई फायदा है? क्या कोई हमारी प्रार्थनाएँ सुनता है?’ एक लेखक ने कहा कि प्रार्थना करने से सिर्फ कुछ वक्‍त के लिए हमारा ध्यान अपनी समस्याओं पर से हट जाता है। कुछ स्वास्थ्य संगठनों का कहना है कि प्रार्थना दवाई का भी काम करती है। तो अब सवाल उठता है कि क्या प्रार्थना करने का कोई फायदा है या फिर इससे बस हमारा दिल हलका होता है?

यह सच है कि प्रार्थना करने से हमारा मन हलका होता है, लेकिन पवित्र किताब बाइबल बताती है कि प्रार्थना इससे कहीं ज़्यादा ताकत रखती है। इसमें लिखा है कि कोई है जो हमारी प्रार्थनाएँ सुनता है, अगर वे सही तरह से और सही बातों के लिए की जाएँ। क्या यह बात सच है? आइए इसके कुछ सबूतों पर गौर करें। (w15-E 10/01)

^ पैरा. 3 कुछ नाम बदल दिए गए हैं।