इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

2017 यहोवा के साक्षियों की सालाना किताब

ऊपरी स्वानेती

 जॉर्जिया

जॉर्जिया पर एक नज़र

जॉर्जिया पर एक नज़र

अंगूरों की कटाई खुशियाँ लाती है

इलाका: जॉर्जिया ऊँची-ऊँची पर्वतमालाओं और बर्फ से ढकी चोटियों के लिए जाना जाता है। कुछ पहाड़ों की चोटियाँ 15,000 फुट से ज़्यादा ऊँची हैं। इस देश के खास तौर से दो हिस्से हैं, पूर्वी और पश्‍चिमी जॉर्जिया। दोनों हिस्से कई इलाकों से बने हैं और हर इलाके का अपना मौसम, अपने रीति-रिवाज़, संगीत, नृत्य और खान-पान है।

लोग: यहाँ की 37 लाख आबादी में से ज़्यादातर लोग जॉर्जिया के मूल निवासी हैं।

धर्म: ज़्यादातर लोग ऑर्थोडॉक्स चर्च के सदस्य हैं। करीब 10 प्रतिशत लोग इस्लाम धर्म के माननेवाले हैं।

भाषा: यहाँ की जॉर्जियाई भाषा का किसी भी पड़ोसी देश की भाषा से कोई नाता नहीं है। इतिहास दिखाता है कि जॉर्जियाई भाषा की अनोखी वर्णमाला की ईजाद ईसा पूर्व में की गयी थी।

 रोज़गार: ज़्यादातर लोग खेती-बाड़ी करते हैं। हाल ही में पर्यटन, जॉर्जिया की अर्थ-व्यवस्था का एक खास हिस्सा बन गया।

मौसम: देश के पूर्वी हिस्से में मौसम न ज़्यादा गरम होता है न ठंडा। पश्‍चिमी जॉर्जिया में काले सागर के तटवर्ती इलाकों में थोड़ी गरमी और नमी होती है। यहाँ नींबू, संतरे जैसे खट्टे फल बहुत उगते हैं।

काखेती प्रांत में अंगूरों की कटाई हो रही है

 खान-पान: जॉर्जिया के लोगों के हर खाने में ब्रैड ज़रूर होती है। यहाँ की पारंपरिक ब्रैड मिट्टी की भट्ठी में पकायी जाती है। उनका सबसे खास पकवान होता है, मसालों और ताज़े साग-पात से बना एक गाड़ा शोरबा। वाइन बनाने की परंपरा यहाँ बहुत पुरानी है। वाइन बनाने के लिए अंगूरों को बड़े-बड़े मटकों में रखा जाता है। बहुत-से परिवारों के पास अपने अंगूरों के बाग हैं और वे खुद वाइन बनाते हैं। जॉर्जिया में करीब 500 किस्मों के अंगूर उगते हैं।

पारंपरिक ब्रैड बनायी जा रही है