इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

आज कौन यहोवा की मरज़ी पूरी कर रहे हैं?

 पाठ 24

पूरी दुनिया में होनेवाले हमारे काम का खर्च कैसे चलाया जाता है?

पूरी दुनिया में होनेवाले हमारे काम का खर्च कैसे चलाया जाता है?

नेपाल

टोगो

ब्रिटेन

हमारा संगठन हर साल लाखों बाइबलें और दूसरे साहित्य छापता है और लोगों तक पहुँचाता है। इसके लिए उनसे कोई पैसा नहीं लिया जाता। हम राज-घरों और शाखा दफ्तरों का निर्माण करते हैं और उनके रख-रखाव का भी ध्यान रखते हैं। हम बेथेल परिवार के हज़ारों सदस्यों और मिशनरियों का खर्चा उठाते हैं और विपत्ति के समय भाई-बहनों की मदद करते हैं। इसलिए शायद आप सोचें, ‘इन सब के लिए पैसा कहाँ से आता है?’

हम न तो कमाई का दसवाँ हिस्सा माँगते हैं, न ही थैलियाँ घुमाकर चंदा इकट्ठा करते हैं। हालाँकि खुशखबरी फैलाने के काम में काफी खर्चा होता है, लेकिन इसके लिए हम किसी से पैसे नहीं माँगते। आज से करीब 100 साल पहले प्रहरीदुर्ग पत्रिका के दूसरे अंक में बताया गया था, हमारा विश्वास है कि यहोवा परमेश्वर हमारे साथ है और हम ‘इंसानों के आगे कभी हाथ नहीं फैलाएँगे, न ही मदद के लिए उनसे फरियाद करेंगे।’ आज तक हमें ऐसा कभी नहीं करना पड़ा है!—मत्ती 10:8.

हमारा काम स्वेच्छा से दिए गए दान से चलाया जाता है। कई लोग इस बात की कदर करते हैं कि हम बाइबल की शिक्षा देने का बढ़िया काम कर रहे हैं और वे अपनी मरज़ी से इस काम के लिए दान देते हैं। यहोवा के साक्षी खुशी-खुशी अपना समय, ताकत, पैसा और साधन परमेश्वर की मरज़ी पूरी करने में लगाते हैं। (1 इतिहास 29:9) राज-घर में और हमारे सम्मेलनों और अधिवेशनों में दान-पेटियाँ होती हैं, जिनमें जो कोई दान देना चाहे दे सकता है। इसके अलावा, हमारी वेबसाइट jw.org के ज़रिए भी दान दिया जा सकता है। आम तौर पर जो लोग दान देते हैं, वे पैसेवाले नहीं होते। ठीक उस गरीब विधवा की तरह जिसने मंदिर के दान-पात्र में दो पैसे डाले थे और जिसकी यीशु ने तारीफ की थी। (लूका 21:1-4) इसलिए कोई भी, फिर चाहे वह गरीब ही क्यों न हो, नियमित तौर पर ‘कुछ अलग रख’ सकता है, ताकि जितना “उसने अपने दिल में ठाना है” उतना दान दे सके।—1 कुरिंथियों 16:2; 2 कुरिंथियों 9:7.

ऐसे कई लोग हैं जो “अपनी अनमोल चीज़ें देकर यहोवा का सम्मान” या आदर करना चाहते हैं। (नीतिवचन 3:9) हमें यकीन है कि यहोवा इन लोगों के दिलों को उभारता रहेगा कि वे राज के काम को सहयोग देने के लिए दान दें, जिससे परमेश्वर की मरज़ी पूरी हो।

  • हमारा संगठन किस तरह दूसरे धर्मों से अलग है?

  • स्वेच्छा से दिए गए दान का किस तरह इस्तेमाल किया जाता है?