इस जानकारी को छोड़ दें

सैकेंडरी मैन्यू को छोड़ दें

विषय-सूची को छोड़ दें

यहोवा के साक्षी

हिंदी

महान शिक्षक से सीखिए

बाइबल में ही सबसे बढ़िया सिद्धांत दिए गए हैं। बच्चे किसी इंसान की बातें नहीं बल्कि स्वर्ग में रहनेवाले अपने पिता यहोवा की बातें जान सकते हैं।

अपने बच्चों की ज़रूरतें समझिए

यह किताब इसलिए तैयार की गयी है ताकि बच्चों और उनके साथ जो लोग यह किताब पढ़ेंगे, उनके बीच अहम विषयों पर खुलकर और अच्छी बातचीत हो सके।

यीशु क्यों महान शिक्षक था

यीशु ने क्या बातें सिखायीं? और उसकी शिक्षाएँ किसकी तरफ से थीं?

प्यार करनेवाले परमेश्वर की चिट्ठी

परमेश्वर की चिट्ठी दरअसल एक किताब है जो बाकी सभी किताबों से बहुत अनमोल है।

सबकुछ किसने बनाया?

चिड़ियों को किसने बनाया? किसने उन्हें गाना सिखाया? किसने हरी-हरी घास बनायी? आपको किसने बनाया?

परमेश्वर का एक नाम है

हम सभी का अपना-अपना एक नाम है। क्या आपको पता है कि परमेश्वर का नाम क्या है? उसका नाम जानना क्यों ज़रूरी है?

‘यह मेरा बेटा है’

किस वजह से यीशु दूसरों से अलग और खास था?

महान शिक्षक ने दूसरों की सेवा की

जब कोई आपके लिए अच्छा काम करता है तो आपको कैसा लगता है? आपको खुशी होती है, है ना? हम सभी को खुशी होती है। यह बात महान शिक्षक यीशु भी जानता था।

कहना मानने से सुरक्षा होती है

बच्चे बड़ों से बहुत कुछ सीख सकते हैं। और जब परमेश्वर हमसे कोई काम करने को कहता है, तो हम यकीन रख सकते हैं कि वह हमें कभी कोई गलत काम करने के लिए नहीं कहेगा।

परमेश्वर हम सबसे बड़ा है

जो हमसे बड़े हैं, उनमें से कुछ अच्छे हैं तो कुछ बुरे हैं।

बहकावे में मत आइए

अगर कोई आपसे कुछ गलत काम करने को कहता है, तो आपको क्या करना चाहिए?

यीशु, दुष्ट स्वर्गदूतों से ज़्यादा ताकतवर

हमें दुष्ट स्वर्गदूतों से डरना नहीं चाहिए मगर हमें खबरदार रहना है कि वे हमें बेवकूफ न बना दें।

परमेश्वर के स्वर्गदूतों से मदद

परमेश्वर के स्वर्गदूत उन लोगों की मदद करते हैं जो यहोवा से प्यार करते हैं और उसकी सेवा करते हैं।

यीशु ने हमें प्रार्थना करना सिखाया

चाहे दिन हो या रात, आप परमेश्वर से किसी भी वक्‍त प्रार्थना कर सकते हैं और वह आपकी सुनेगा।

यीशु के चेले

वे किस तरह के लोग थे?

दूसरों को माफ क्यों करें

यीशु ने एक कहानी सुनायी यह सिखाने के लिए कि दूसरों को माफ करना बहुत ज़रूरी है।

दया दिखाने का सबक

दयालु सामरी की कहानी से सीखिए।

सबसे ज़रूरी क्या है?

हम परमेश्वर की नज़र में अमीर कैसे हो सकते हैं?

खुशी का राज़

महान शिक्षक खुश रहने का राज़ बताता है।

क्या आपको धन्यवाद कहना याद रहता है?

आप दस कोढ़ियों की मिसाल से कुछ सीख सकते हैं।

क्या लड़ाई करना अच्छी बात है?

अगर बात बढ़ने लगती है, तो आपको क्या करना चाहिए?

क्या आप हमेशा पहले नंबर पर आना चाहते हैं?

इस बारे में जब यीशु के चेलों में बहस हुई तो उसने उनसे क्या कहा?

क्या हमें डींग मारनी चाहिए?

यीशु एक फरीसी और कर-वसूलनेवाले की कहानी सुनाता है।

क्यों हमें झूठ नहीं बोलना चाहिए

देखिए कि यहोवा ने हनन्याह और सफीरा के साथ क्या किया।

लोग बीमार क्यों होते हैं

क्या कभी ऐसा वक्‍त आएगा जब लोग फिर कभी बीमार नहीं पड़ेंगे?

कभी चोरी मत करना!

ऐसे चार किरदारों पर गौर कीजिए जिन्होंने वे चीज़ें लीं जो उनकी नहीं थीं।

क्या बुरे लोग अच्छे बन सकते हैं?

शाऊल और एक वेश्या की दी मिसालों से हमें इस सवाल का जवाब मिलता है।

अच्छे काम करना क्यों मुश्किल है

अगर आप बुरे लोगों के कहने पर कोई काम नहीं करते, तो बदले में वे क्या करेंगे?

आपका परमेश्वर कौन है?

लोग बहुत-से ईश्वरों की पूजा करते हैं। आपको क्या करना चाहिए? तीन जवान यहूदी लड़के हमें जानने में मदद देंगे।

किसकी बात मानें?

“जो सम्राट का है, वह सम्राट को चुकाओ, मगर जो परमेश्वर का है वह परमेश्वर को।”

क्या परमेश्वर सभी पार्टियों से खुश होता है?

क्या आप जानते हैं कि बाइबल कई पार्टियों और जश्नों के बारे में बताती है? हम जान सकते हैं कि यहोवा इन पार्टियों के बारे में क्या सोचता था।

डर पर कैसे काबू पाएँ?

महान शिक्षक ने यह नहीं कहा कि यहोवा की सेवा करना हमारे लिए आसान होगा। पर अपनी हिम्मत जुटाने और मदद पाने का एक तरीका है।

हमें कौन हिम्मत देता है?

अगर आप कभी उदास हुए या आपने खुद को अकेला महसूस किया, तो आपको क्या करना चाहिए?

यीशु को कैसे बचाया गया

जब यीशु बच्चा ही था तब लोगों ने कई बार उसे मार डालने की कोशिश की। जानिए कि यहोवा ने कैसे यीशु की रक्षा की।

यीशु हमारी रक्षा कर सकता है

जब वह धरती पर था, तब उसने साबित किया कि वह उनकी रक्षा कर सकता है, जो उससे प्यार करते हैं।

मरने पर हमारा क्या होता है?

क्या आपको मौत से या मरे हुओं से डरना चाहिए?

हम मौत की नींद से जाग सकते हैं!

परमेश्वर ने यीशु को ऐसी शक्‍ति दी थी कि वह मरे हुए लोगों को, बच्चों को भी, ज़िंदा कर सकता था।

परमेश्वर और उसके बेटे को याद करना

यीशु ने अपने चेलों को एक खास तरीका बताया जिसके ज़रिए हम याद कर सकते हैं कि यहोवा और यीशु ने हमारे लिए क्या किया है।

हमें यीशु से क्यों प्यार करना चाहिए

उसने अपनी सिद्ध जीवन दे दिया ताकि हमें हमेशा की ज़िंदगी मिले।

परमेश्वर अपने बेटे को नहीं भूला

यीशु को दोबारा ज़िंदा किया जाता है।

परमेश्वर को कैसे खुश करें

बाइबल में एक बुद्धी भरी सलाह दी गयी है, “हे मेरे बेटे, बुद्धिमान बन और मेरा दिल खुश कर।”

परमेश्वर किन बच्चों से खुश होता है

आप कौन-से काम कर सकते हैं जिनसे परमेश्वर को खुशी होगी?

हमें काम क्यों करना चाहिए

काम करना, तन और मन दोनों के लिए अच्छा है। हम यह सीख सकते हैं कि हम अपने कास से खुशी कैसे पा सकते हैंष

हमारे भाई-बहन कौन हैं?

क्या इनमें वे लोग भी शामिल हैं जो हमारे अपने परिवार के नहीं?

दोस्त वही जो परमेश्वर से प्यार करे

“धोखा न खाओ। बुरी संगति अच्छी आदतें बिगाड़ देती हैं।”

परमेश्वर का राज क्या है? कैसे दिखाएँ कि हमें इसकी ज़रूरत है

जब यीशु पूरी धरती पर राज करेगा, तो वह बहुत सारे बदलाव लाएगा।

पानी से एक बार दुनिया नाश हुई—क्या फिर ऐसा होगा?

नेक लोग धरती में सदा बसे रहेंगे।

कैसे कहा जा सकता है कि हर-मगिदोन पास आ गया है

यीशु ने जिन घटनाओं के बारे में बताया था हम उन्हें पूरा होते देख सकते हैं।

परमेश्वर की नयी दुनिया में आप जी सकते हैं

इसमें हमेशा जीने के लिए आपको क्या करना होगा?